अजयसिंह की नाराजगी भारी पड़ेगी

भोपाल, जनवरी 2016/ मध्‍यप्रदेश में झाबुआ उपचुनाव और कुछ नगरीय निकायों के चुनाव जीतने से फूली फूली घूम रही कांग्रेस का अगला निशाना विंध्‍य क्षेत्र में होने जा रहे मैहर विधानसभा क्षेत्र का चुनाव है। इस चुनाव को जीतने के लिए पार्टी भले ही पूरी ताकत झोंकने का दावा कर रही हो लेकिन उसके भीतर ही चल रहा घमासान जीत की संभावनाओं पर पलीता लगाता दिख रहा है।

कांग्रेस ने मैहर में भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका देते हुए पिछले चुनाव में बसपा से लड़ने वाले मनीष पटेल को अपनी पार्टी में शामिल कर लिया है। मनीष पटेल पिछले चुनाव में 40 हजार वोट लेकर तीसरे नंबर पर रहे थे। लेकिन मनीष पटेल को पार्टी में लेने की औपचारिकताएं पूरी किए जाने के दौरान प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में जो कार्यक्रम हुआ उसमें विंध्‍य क्षेत्र के वरिष्‍ठ कांग्रेसी नेता और विधायक अजयसिंह की गैरमौजूदगी ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। जिस समय प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष अरुण यादव और अन्‍य नेता मनीष पटेल को कांग्रेस में शामिल करते हुए उनका स्‍वागत कर रहे थे उसी समय प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से चंद कदम की दूरी पर अजयसिंह अपने सरकारी निवास में बैठे थे। बताया जाता है कि मीडिया के कुछ लोगों ने जब अजयसिंह से पूछा कि क्‍या वे कार्यक्रम जा रहे हैं तो उनका जवाब था मुझे ऐसे किसी कार्यक्रम की सूचना नहीं है। उल्‍लेखनीय है कि अजयसिंह पूर्व मुख्‍यमंत्री और कांग्रेस के दिग्‍गज नेता अर्जुनसिंह के बेटे हैं और प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष रह चुके हैं। उन्‍होंने मैहर चुनाव को अपने लिए प्रतिष्‍ठा का प्रश्‍न बनाया हुआ है। ऐसे में उन्‍हें नाराज करना कांग्रेस को चुनाव में भारी पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here