अटल बाल मित्र योजना में एक करोड़ से ज्यादा राशि एकत्रित

भोपाल। मध्यप्रदेश में अटल बिहारी वाजपेई बाल आरोग्य एवं पोषण मिशन के तहत संचालित अटल बाल मित्र योजना में विभिन्न संस्थाओं और दान-दाताओं से एक करोड़ 32 लाख 77 हजार रुपये की राशि एकत्रित हुई है। एकत्रित राशि आँगनवाड़ी केन्द्रों के भवन निर्माण, बच्चों के खिलौने, वस्त्र, फर्नीचर, स्वास्थ्य सुविधाओं और विशेष पोषण-आहार पर खर्च की जा रही है। इंदौर जिले में जो कार्य हुए उनमें 11 भवनों का निर्माण, अति कम वजन के चिन्हांकित बच्चों को विशेष आहार, दस केन्द्र में वॉल पेंटिंग, वॉटर प्यूरीफायर, दरी आदि की व्यवस्था तथा अति कम वजन के चिन्हांकित ह्रदय रोगी बच्चों की शल्य-चिकित्सा कराई गई। धार जिले में 49 केन्द्र में घड़ी व पंखे, दरियाँ, टाटपट्टी, स्वेटर, कपड़े, बर्तन तथा चार भवन का निर्माण, खरगोन जिले में दो भवन के लिये भूमि, 1841 अति कम वजन के बच्चों को तीन माह तक विशेष आहार की व्यवस्था, सौ बच्चों को नियमित रूप से दूध का प्रदाय, बड़वानी जिले के सेंधवा और राजपुर, ठीकरी, पानसेमल परियोजना के 27 केन्द्र में खिलौनों का वितरण तथा सेंधवा परियोजना के 24 केन्द्र में यूनिफार्म वितरित किये गये। इसी परियोजना में सामूहिक जन्म-दिवस और भोजन की व्यवस्था भी जन-सहयोग से करवाई गई।

झाबुआ जिले में 58 लाख 5 हजार रुपये की लागत से 10 भवन का निर्माण तथा बुरहानपुर जिले के 21 केन्द्र में वॉल-पेंटिंग व 14 केन्द्र में खिलौनों की व्यवस्था की गई। खण्डवा जिले में जन-सहयोग द्वारा खिलौनों की 27 किट, फिशर स्कूल द्वारा खिलौनों की 12 किट तथा आई.सी.डी.एस. द्वारा 10 खिलौनों की किट प्रदान की गईं। सोया प्लांट खण्डवा आईल मिल द्वारा केन्द्रों के लिए 5-5 किलोग्राम के सोया आटे के पैकेट तथा 60 हजार बच्चों के लिए 900 क्विंटल सोया प्रदाय किया गया। नगरीय क्षेत्र के 344 बच्चों को तीन माह तक विशेष आहार और खालवा में 2 लाख रुपये के खिलौने भी प्रदाय किये गये।

उज्जैन जिले की ग्रामीण परियोजना में जन-सहयोग से खिलौनों, बड़नगर परियोजना में 150 यूनिफार्म और सत्तू एवं दवाइयों के वितरण के साथ सभी परियोजनाओं में पेंटिंग कार्य करवाया गया। देवास जिले के 46 केन्द्र पर खिलौनों का वितरण, अन्य केन्द्रों को टाट-पट्टी, कुर्सी, दरी, वॉटर फिल्टर, मच्छरदानी, दूध-बिस्किट, फल, गुड़ पट्टी आदि की व्यवस्था की गई। रतलाम जिले में 9 भवन के सुधार के साथ ही 8 सायकिल की व्यवस्था करवाई गई। स्थानीय विधायक द्वारा साढ़े चार लाख रुपये का वाहन भी प्रदान किया गया। शाजापुर जिले में मारुति वेन जन-सहयोग से दी गई।

मंदसौर जिले में 413 कुर्सियाँ, 40 प्लेट-चम्मच, 2 दीवार घड़ी, खिलौना गाड़ी, 10 केन्द्रों में सोया बिस्किट तथा 15 केन्द्र में वॉल-पेंटिंग जन-सहयोग से करवाई गई। नीमच जिले के 29 केन्द्र को सायकिल और खिलौनों का वितरण कर रेडक्रास के सहयोग से टाटा मैजिक वाहन उपलब्ध करवाई गई। भोपाल की अशासकीय संस्था सुमन श्री जनकल्याण समिति द्वारा 210 सायकिल, 3 बॉल, 7 फुटबाल, खिलौने, पंखे तथा अन्य बर्तन, ब्लेक-बोर्ड, स्लेट आदि पठन-पाठन की सामग्री मुहैया करवाई गईं। छिन्दवाड़ा जिले में लायंस क्लब परासिया द्वारा 12 तथा आर्य समाज और रोटरी क्लब द्वारा एक-एक केन्द्र को गोद लिया गया। शहरी परियोजना में वात्सल्य क्लब की महिलाओं द्वारा 6 केन्द्र में वॉटर फिल्टर, बिछुआ परियोजना के 9 केन्द्र में अति कम वजन के बच्चों को विशेष आहार, मोहखेड़ परियोजना के 53 केन्द्र के ग्रामों में 14 क्विंटल अनाज वितरित करवाया गया। परासिया के स्थानीय विधायक द्वारा एम्बुलेंस प्रदान की गई और 350 केन्द्र में गणवेश वितरण, 484 केन्द्र में स्लेट आदि वितरित की गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here