आर.जी.पी.वी. के काम के लिए नहीं आना होगा भोपाल

भोपाल, सितम्बर 2014/ राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय भोपाल से संबंधित कार्यों के लिए अब विद्यार्थियों को भोपाल नहीं आना पड़ेगा। विश्वविद्यालय में 6 रीजनल सेंटर संभाग मुख्यालय में खोले जा रहे हैं। यहाँ विद्यार्थियों के विश्वविद्यालय से संबंधित कार्य समय-सीमा में होंगे। रीजनल सेंटर इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, रीवा, सागर और उज्जैन में खुलेंगे।

उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता 26 सितम्बर को इंदौर और 5 अक्टूबर को ग्वालियर के रीजनल सेंटर का शुभारंभ करेंगे। उन्होंने सभी सेंटर में पर्याप्त स्टाफ और सुविधाएँ उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये हैं।

विद्यार्थी जोनल सेंटर में प्रोविजनल डिग्री, डिग्री, माइग्रेशन, डुप्लीकेट माइग्रेशन, डुप्लीकेट मार्कशीट और नाम सुधार से संबंधित आवेदन दे सकेंगे। जोनल सेंटर द्वारा आवेदन को स्केन कर ई-मेल से विश्वविद्यालय की संबंधित शाखा को भेजा जायेगा। विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित समय-सीमा में जानकारी संबंधित सेंटर को भेज दी जायेगी। विद्यार्थी को सेंटर से उसे दी गयी समय-सीमा में जानकारी उपलब्ध करवा दी जायेगी।

माइग्रेशन, डुप्लीकेट माइग्रेशन, डिग्री, प्रोविजनल डिग्री, डुप्लीकेट मार्कशीट के लिए 15 दिन की समय-सीमा निर्धारित की गयी है। नाम सुधार के लिए 2 दिन की समय-सीमा तय की गयी है।

रीजनल सेंटर में ऑनलाइन क्लास, नयी स्कीम, पी.एच-डी. और परीक्षा परिणाम, प्लेसमेंट, खेल और पाठ्यक्रम से जुड़ी अन्य गतिविधियों सहित अन्य जानकारी मिलेगी। सेंटर द्वारा पेपर वितरण, आब्जर्वर और फ्लाइंग स्क्वाड की नियुक्ति जैसे अन्य कार्य भी किये जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here