उप-चुनाव में 19 लाख से अधिक मतदाता

भोपाल, नवम्बर 2015/ मध्यप्रदेश में 21 नवम्बर को होने जा रहे रतलाम लोकसभा और देवास विधानसभा उप-चुनाव को लेकर सभी तैयारियाँ पूरी हो चुकी हैं। मतदान सुबह 7 से शाम 5 बजे तक होगा। दोनों निर्वाचन क्षेत्र के 19 लाख 85 हजार 540 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। रतलाम में 8 और देवास में 4 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे हैं। दोनों उप-चुनाव की मतगणना 24 नवम्बर को सुबह 8 बजे से होगी। देवास के अलावा रतलाम संसदीय सीट के 8 विधानसभा क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। पुलिस और होमगार्ड के अलावा सीएपीएफ की 20 कम्पनी चुनाव क्षेत्र में सुरक्षा का मोर्चा सम्हालेंगी। सभी सुरक्षा कम्पनी अपने-अपने क्षेत्र में पहुँच चुकी हैं। दोनों क्षेत्र में आज शाम 5 बजे चुनाव प्रचार थम गया है। मतदान समाप्ति तक शुष्क दिवस रहेगा।

उम्मीदवार

रतलाम लोकसभा उप-चुनाव के लिये 8 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के श्री कांतिलाल भूरिया, भारतीय जनता पार्टी की सुश्री निर्मला भूरिया, राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के श्री कसन सिंह चौहान, बहुजन मुक्ति पार्टी के श्री कैलाश वसुनिया, समता समाधान पार्टी के श्री जालम सिंह पटेल, जनता दल (यूनाईटेड) के श्री विजय हारी तथा निर्दलीय सर्वश्री जोसफ राम सिंह एवं पवन सिंह डोडिया शामिल हैं। देवास विधानसभा उप-चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की श्रीमती गायत्री राजे पवार, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के श्री जय प्रकाश शास्त्री, द इम्पेरियल पार्टी ऑफ इण्डिया के श्री सन्नी सिंह कँवर तथा समाजवादी पार्टी के हाजी हातम भाई अपना भाग्य आजमायेंगे।

मतदाता

देवास विधानसभा उप-चुनाव के लिये 2 लाख 42 हजार 864 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनमें एक लाख 26 हजार 231 पुरुष, एक लाख 16 हजार 626 महिला तथा 7 अन्य मतदाता हैं। देवास में 18-19 आयु वर्ग के 5477 (2.26 प्रतिशत) युवा मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। देवास का जेंडर रेशो 924 है। रतलाम संसदीय क्षेत्र में 17 लाख 42 हजार 676 मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल करेंगे। इनमें 8 लाख 79 हजार 533 पुरुष, 8 लाख 63 हजार 111 महिला तथा 32 अन्य मतदाता हैं। रतलाम का जेंडर रेशो 981 है। इस क्षेत्र में 18-19 आयु वर्ग के युवा मतदाताओं की संख्या 42 हजार 283 है, जो कुल मतदाता का 2.43 प्रतिशत है। ये सभी युवा पहली बार वोट डालेंगे।

मतदान-केन्द्र

देवास उप-चुनाव के लिये 303 मतदान-केन्द्र पर वोट डाले जायेंगे। इनमें शहरी 252 और 51 ग्रामीण क्षेत्र में हैं। क्रिटिकल मतदान-केन्द्र की संख्या 121 है। रतलाम संसदीय क्षेत्र के 2200 मतदान-केन्द्र में से 1792 ग्रामीण तथा 408 शहरी क्षेत्र में हैं। क्षेत्र के 397 मतदान-केन्द्र क्रिटिकल श्रेणी के हैं, जहाँ सुरक्षा के विशेष इंतजाम रहेंगे।

आदर्श आचरण संहिता

दोनों निर्वाचन क्षेत्र में 21 अक्टूबर से लागू आदर्श आचरण संहिता का सख्ती से पालन करवाया गया है। अब तक विभिन्न राजनैतिक दल से आचरण संहिता उल्लंघन की 27 शिकायत प्राप्त हुई थीं, जिनमें 20 का निराकरण हो चुका है। रतलाम में प्राप्त 18 शिकायत में से 11 निराकृत हो चुकी हैं। देवास की सभी 9 शिकायत का निराकरण किया जा चुका है।

ईव्हीएम

दोनों उप-चुनाव में 3006 ईव्हीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) का उपयोग होगा। इनमें 20 प्रतिशत अतिरिक्त ईव्हीएम भी शामिल हैं। देवास में 364 ईव्हीएम पर वोट डाले जायेंगे। शेष 2642 का इस्तेमाल रतलाम उप-चुनाव के लिये होगा।

सामान्य प्रेक्षक

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त 3 सामान्य प्रेक्षक क्षेत्र में निरंतर सक्रिय रहकर राजनैतिक दलों, आमजन, मतदाता आदि से प्राप्त शिकायतों का परीक्षण कर कार्यवाही कर रहे हैं। आयोग ने रतलाम लोकसभा क्षेत्र के विधानसभा थांदला, रतलाम सिटी एवं ग्रामीण और सेलाना के लिये श्री संदीप कुमार मुलतानिया को सामान्य प्रेक्षक बनाया है। अलीराजपुर, जोबट, झाबुआ और पेटलावद के लिये श्री अमित कुमार सामान्य प्रेक्षक हैं। वहीं देवास विधानसभा उप-चुनाव के लिये श्री राजीव रंजन प्रेक्षक हैं।

कंट्रोल-रूम

रतलाम और देवास उप चुनाव के कार्य के संचालन तथा सूचना के आदान-प्रदान के लिये मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में कंट्रोल-रूम स्थापित किया गया है। कंट्रोल-रूम 20 नवम्बर को सुबह 7 बजे से कार्य करेगा। कंट्रोल-रूम के लिये अधिकारी-कर्मचारियों की तैनाती की गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here