औद्योगिक क्षेत्रों पर सरकार 3 हजार करोड़ खर्च करेगी

पीथमपुर (धार)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कृषि के साथ-साथ उद्योगों को भी बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार कटिबद्ध है। पीथमपुर सहित सभी औद्योगिक क्षेत्रों में आधारभूत सुविधाओं के विकास के लिए 300 करोड़ रूपये खर्च किए जायेंगे। इसके अलावा नये औद्योगिक क्षेत्रों के विकास पर भी सरकार 2700 करोड़ रूपये खर्च करेगी। मुख्यमंत्री पीथमपुर में केवीयो एवं पीनाकल इण्डस्ट्रीज के संयुक्त उपक्रम में लगाये जा रहे कारखाना का भूमि-पूजन कर रहे थे।

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में उद्योगों की विकास की दिशा में प्रयास सतत जारी है। पिछले वर्षो में 80 हजार किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया है। वर्तमान में अकेले एम.पी.आर.डी.सी. द्वारा लगभग 33 हजार करोड़ रूपये की लागत से सड़के बनाई जा रही हैं। इसके अलावा लोक निर्माण विभाग, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क, केन्द्रीय सड़क निधि तथा मुख्यमंत्री सड़क योजना में अलग से सड़कें बनाई जा रही हैं। प्रदेश के सभी गाँव को वर्ष 2013 तक सड़कों से जोड़ दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि उद्योगों को 24 घन्टे बिजली दी जा रही है और गांवों को भी वर्ष 2013 तक 24 घन्टे बिजली आपूर्ति होने लगेगी। मालवा क्षेत्र में नर्मदा नदी का पानी क्षिप्रा, गंभीर, कालीसिंध आदि नदियों में डालकर उद्योगों के लिए तथा 70 शहर और 16 लाख हेक्टयेर क्षेत्र में सिंचाई के लिए उपलब्ध करवाया जायेगा। प्रदेश के युवाओं के कौशल उन्नयन एवं प्रशिक्षण पर भी ध्यान दिया जा रहा है। इससे उद्योगों को स्थानीय स्तर पर कुशल श्रमिक मिल सकेंगे।

वाणिज्य, उद्योग एवं रोजगार मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि निवेशकों के लिए मध्यप्रदेश में बहुत ही अनुकूल माहौल है। आधारभूत संरचनाओं के विकास और उद्योगों के विकास के लिये बाह्य निवेश का स्वागत किया जाएगा। चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री महेन्द्र हार्डिया ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

पीनाकल इण्डस्ट्रीज के श्री अभय फिरोदिया ने उद्योगों के लिए अनुकूल माहौल के लिए गुड गवर्नेंस, इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास तथा व्यापार संवर्धक वातावरण पर जोर दिया। स्पेनिस कंपनी केवियो के श्री डीएगो ने भी अपने विचार व्यक्त किए। श्री डीएगो ने अतिथियों को स्मृति-चिन्ह भी भेंट किए। पीनाकल इण्डस्ट्रीज के श्री सुधीर मेहता ने बताया कि एक वर्ष में कंपनी द्वारा प्रथम चरण का प्रोजेक्ट निर्माण पूर्ण कर लिया जाएगा। इस चरण में कंपनी द्वारा 50 करोड़ का निवेश किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here