करीब दो करोड़ बच्चे सुनेंगे प्रधानमंत्री का सम्बोधन

भोपाल, सितंबर 2014/ आगामी 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के अवसर पर अन्य राज्यों सहित मध्यप्रदेश के एक लाख 56 हजार 66 स्कूल के एक करोड़ 85 लाख बच्चे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उद्बोधन को सीधे प्रसारण के जरिये सुनेंगे। प्रधानमंत्री के सम्बोधन का सीधा प्रसारण दोपहर 3 से 4.45 बजे तक दूरदर्शन, आकाशवाणी, एडुसेट तथा वेबकास्ट आदि संचार माध्यमों से किया जायेगा। प्रदेश के लगभग 5 लाख्ा शिक्षक भी प्रधानमंत्री के सम्बोधन को सुनेंगे।

स्कूलों के बच्चों को प्रधानमंत्री का सम्बोधन सुनवाने के लिए राज्य स्तर पर व्यापक तैयारियाँ की जा रही हैं। राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा जिलों को इस संबंध में आवश्यक तैयारियों के निर्देश दिये गये हैं। अपर मुख्य सचिव एस.आर. मोहंती ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग द्वारा सभी जिलों के कलेक्टर और जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को प्रसारण संबंधी आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने को कहा है। उन्होंने प्रसारण अवधि में निर्बाध विद्युत आपूर्ति को सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये हैं। प्रधानमंत्री के भाषण को केबल नेटवर्क में दूरदर्शन के जरिये प्रसारित करवाने की दिशा में कार्यवाही की जा रही है। कृषि तथा वन विभाग को भी कहा गया है कि वे अपने प्रशिक्षण केन्द्रों के हॉल/ऑडिटोरियम का उपयोग इस कार्यक्रम में करें। कार्यक्रम के समापन के तत्काल बाद उपस्थिति रिपोर्ट प्राप्त करने के लिये सूचना प्रौद्योगिकी विभाग से एसएमएस आधारित सिस्टम बनाने के लिये अनुरोध किया गया है।

प्रधानमंत्री के सम्बोधन को डीटीएच पर भी लाइव देखा जा सकेगा। जिलों से कहा गया है कि जिन स्थानों पर टेलीविजन और विद्युत की व्यवस्था नहीं है, वहाँ टेलीविजन और जनरेटर की व्यवस्था की जाये। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये शाला प्रबंधन समिति के अधिक से अधिक सदस्यों को शामिल किया जाये। कार्यक्रम में शासकीय विद्यालयों के अलावा केन्द्रीय, नवोदय विद्यालय, छात्रावास और निजी विद्यालयों को शामिल करवाया जाये। कार्यक्रम के बेहतर संचालन के लिये चिन्हित अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाये। बच्चों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर बहुत ज्यादा दूर नहीं ले जाया जाये तथा उनकी सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाये। स्थानीय पुलिस को भी इस संबंध में निर्देशित किया जाये।

प्रदेश में अनेक स्थान पर संचालित बालिका छात्रावास, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक छात्रावासों के बच्चे भी अपने छात्रावास में उपलब्ध टी.वी. पर प्रधानमंत्री का उद्बोधन सुनेंगे। समस्त प्रायवेट स्कूलों में प्रधानमंत्री के उद्बोधन का सीधा प्रसारण शिक्षकों एवं बच्चों को सुनवाया जाएगा। प्रायवेट स्कूल प्रसारण के संबंध में आवश्यक व्यवस्थाएँ स्वयं करेंगे। राज्य शिक्षा केन्द्र ने जिलों के कलेक्टर एवं ज़िला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को 5 सितम्बर को स्कूलों का संचालन समय दोपहर का निर्धारित करने के लिये भी कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here