कांग्रेस ने संसदीय प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाई

भोपाल, अगस्त 2015/ मप्र भाजपा अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जिस तरह पावस सत्र में संसद में अभिव्यक्ति और आचरण किया है उससे कांग्रेस जैसे राजनैतिक दल का वैचारिक जनदर्शन और परिपक्वता बेनकाब हो गयी है। लोकतंत्र के प्रति न तो कांग्रेस ने सम्मान, सौजन्यता, प्रदर्षित की और न देश के प्रति प्रतिबद्धता का ही सबूत दिया। इससे एक बात जाहिर हो चुकी है कि कांग्रेस यदि केन्द्र सरकार और एनडीए का नुकसान होता है तो अपशगुन के लिए अपनी आंख फोड़ने तक को तैयार है।

श्री चौहान ने कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद और संसद के बाहर जिस स्पष्टता के साथ सारी बातें संसद में रखी हैं उससे अब कहीं कोई संदेह की गुंजाईश नहीं रह गयी है, लेकिन श्रीमति सोनिया गांधी ने विदेश मंत्री श्रीमति सुषमा स्वराज के इस आचरण को ड्रामाबाजी कहकर न केवल लोकतंत्र अपितु संसद का अपमान किया है। संसद के प्रति इस तरह हल्के फुल्के विचार व्यक्त करके सोनिया गांधी ने अपनी लोकतांत्रिक निरक्षरता का प्रदर्षन किया है। जब कांग्रेस अध्यक्षा स्वयं देश की विदेश मंत्री को नाटकबाज कहेगी तो देश का आम आदमी भी अपमानित महसूस करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here