किसानों को सूखे के संकट से उबारने का प्रयास होगा

भोपाल, अक्टूबर 2015/ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि सरकार हरसंभव प्रयास कर किसानों को सूखे के इस संकट से उबार लेगी। उनसे कर्ज की वसूली नहीं होगी और ब्याज की राशि भी सरकार देगी। श्री चौहान ने निर्देश दिये कि फसलों का सर्वे पूरी संवेदनशीलता और सजगता के साथ किया जाये। वे कटनी जिले के ग्राम मेहगवाँ और कांटी में प्रभावित फसलों का जायजा लेने के बाद किसानों से चर्चा कर रहे थे।

श्री चौहान ने कहा कि अवर्षा की स्थिति में किसानों की फसलें खराब हो गई हैं। किसानों की संकट की घड़ी में सरकार किसानों के साथ है। किसानों को संकट से पार करने में सरकार द्वारा सहयोग किया जायेगा। किसानों को फसलों के मुआवजा के साथ-साथ फसल बीमा का लाभ भी दिया जायेगा। किसानों को हारने नहीं देंगें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों से कर्ज वसूली नहीं होगी। किसान ब्याज की चिन्ता नहीं करें। ब्याज की राशि सरकार द्वारा भरी जायेगी। अवर्षा से खराब फसलों से परेशान किसानों को एक साल तक राशन सामग्री प्रदान की जायेगी। किसानो की खुशहाली के लिए जो संभव होगा, वह किया जायेगा। प्रभावित क्षेत्रों में मनरेगा के कार्य खोले जायेंगें। बेटी की शादी मामा करायेगा, किसान चिन्ता नहीं करें। उन्होंने कहा कि किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए सरकार अन्य उपाय भी कर रही है। इन उपायों से किसान भाई खेती के साथ-साथ पशुपालन एवं अन्य व्यवसाय भी कर सकेंगे। किसान भाई कम पानी वाली फसलों की खेती करें। नौजवान युवक-युवतियों को रोजगार के लिए बैंकों से प्रकरण बनवाये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने महगंवा में ग्रामीणजन से मुलाकात कर उनकी समस्याएँ जानी। नि:शक्तजन की समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिये कलेक्टर को निर्देशित किया। निःशक्त मनीष पटेल का तत्काल गरीबी रेखा कार्ड बनाने तथा निःशक्तजन पेंशन का लाभ दिये जाने के निर्देश दिये। गंभीर रूप से पीड़ित धनीराम के बच्चों का गरीबी रेखा का कार्ड बनाने एवं इलाज करवाने के निर्देश दिये। पौड़ी निवासी नि:शक्त युवक सुभाष शर्मा की पेंशन तत्काल स्वीकृत करने के निर्देश सी.ई.ओ. जनपद पंचायत बड़वारा को दिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here