केन्द्रीय मंत्री जयराम रमेश ने की मध्यप्रदेश की सराहना

इंदौर। केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने इंदौर में भारत निर्मल यात्रा के तहत समारोह को संबोधित करते हुए स्वच्छता की दिशा में मध्यप्रदेश में किये जा रहे कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में स्वच्छता की दिशा में बेहतर कार्य किये जा रहे हैं। जिस गति से कार्य मध्यप्रदेश में किये जा रहे हैं उसको देखकर लगता है कि यह प्रदेश अगले चार-पाच वर्षों में ही पूर्ण स्वच्छ प्रदेश बन जायेगा। इस दिशा में मध्यप्रदेश के बेतूल जिले की अनिता ने नयी राह दिखाई। समारोह की अध्यक्षता प्रदेश के ग्रामीण एवं विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने की।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि भारत निर्मल यात्रा 3 अक्टूबर से सेवा ग्राम वर्धा से शुरू हुईा। यह यात्रा 55 दिन चलेगी और 19 नवम्बर को बेतिया में समाप्त होगी। स्वच्छता का संदेश आमजन तक फैलाना बेहद जरूरी है। आजादी को पूरी तरह से प्राप्त करने के लिये अगले 10 साल में भारत के सभी ढ़ाई लाख ग्राम पंचायतों को पूर्ण स्वच्छ बनाया जाने का लक्ष्य है। अभी तक 28 हजार ग्राम पंचायतें निर्मल हो चुकी हैं। निर्मल ग्राम अभियान महिलाओं की सुरक्षा, आत्मसम्मान तथा गरिमा से जुड़ा हुआ महत्वपूर्ण अभियान है। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य कुपोषण से मुक्ति भी है।

श्री रमेश ने कहा कि खुशी है कि मध्यप्रदेश ने एक साल में सवा सात हजार से अधिक गांवों को निर्मल बनाने का लक्ष्य रखा है। धन राशि की कमी नहीं आने दी जायेगी। अगर इसी गति से काम होता रहा तो मध्यप्रदेश अगले चार-पांच सालों में पूर्ण स्वच्छ प्रदेश बन जायेगा। शौचालय निर्माण में अनुदान देने के बारे में विधवा एवं विकलांगों के लिये भी विशेष प्रावधान करने की मध्यप्रदेश शासन की मांग पर उन्होंने सहमति व्यक्त की। मनरेगा के तहत साढ़े चार हजार रूपये की राशि प्रति शौचालय बनाने पर आसानी से मिले। देश में आठ लाख 40 हजार आशा कार्यकर्ता है, 14 लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता है। इनका सहयोग भी स्वच्छता एवं पेयजल के कार्यों में लिया जाना चाहिये। 25 लाख महिला स्वयं सहायता समूह भी हैं। इन्हें भी इस कार्यक्रम से जोड़ा जाना चाहिये। मध्यप्रदेश के बेतूल जिले की अनिता ने देश को नयी राह दिखाई। इसके संदेश पर ही हरियाणा में शौचालय नहीं तो दुल्हन नहीं” का नारा गुंज रहा है। यह सरकारी आंदोलन नहीं है इसे सामाजिक आंदोलन बनाया जाए।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने इस अवसर पर कहा कि आधुनिक जिंदगी और आधुनिक भारत की कल्पना में निर्मलता एवं स्वच्छता की अहम भूमिका है। अगर 68 प्रतिशत लोग खुले में शौच करें तब यह पूर्ण आजादी का घोतक नहीं है। पूर्ण स्वच्छता के लिये सरकारी प्रयासों के साथ-साथ जनसहयोग भी जरूरी है। उन्होंने विश्वास दिलाया कि गांवों को स्वच्छ बनाने में पूरा सहयोग दिया जायेगा। प्रदेश में विकास के क्षेत्र में दलगत भावना से उठकर कार्य किया जा रहा है। विकास के क्षेत्र में पूरा सहयोग दिया जायेगा। गांवों की तरक्की से ही सुदृढ़ भारत बनेगा। मार्च 2013 तक 7 हजार 300 गांवों को निर्मल बनाया जायेगा। प्रदेश में सभी गांवों को निर्मल बनाया जायेगा। सीहोर जिले के बुधनी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने जनपद को पूर्ण स्वच्छ बनाने के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। मंत्री जयराम रमेश ने बुधनी में किये जा रहे प्रयासों पर प्रसन्नता जाहिर की।

इस मौके पर जिला पंचायत इंदौर के अध्यक्ष ओमप्रकाश परसावदिया, सांसद कांतिलाल भूरिया तथा प्रेमचंद गुड्डु, विधायक जीतू जिराती, सत्यनारायण पटेल तथा तुलसी सिलावट, मध्यप्रदेश की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती अरुणा शर्मा, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी जे.एस. माथुर, पंकज जैन,  इंदौर संभागायुक्त प्रभात पाराशर विशेष रूप से मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here