गेहूँ उपार्जन में समग्र आई.डी. जरूरी नहीं

भोपाल, फरवरी 2015/ खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग ने जिला कलेक्टर्स को निर्देश दिए हैं कि समग्र आई.डी. के बिना किसी भी किसान से गेहूँ की खरीदी न रोकी जाए। प्रदेश में इस वर्ष किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी का कार्य 18 मार्च से प्रारंभ होकर 26 मई तक चलेगा। इस वर्ष 1450 रुपए प्रति क्विंटल के भाव पर किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूँ की खरीदी की जाएगी।

खाद्य, नागरिक आपूर्ति मंत्री कुँवर विजय शाह ने बताया कि किसानों के पंजीयन की कार्यवाही पूरी कर ली गई है। इस वर्ष 19 लाख 8 हजार किसान ने समर्थन मूल्य पर गेहूँ देने के लिए पंजीयन करवाया है। पिछले वर्ष 17 लाख 28 हजार किसान ने पंजीयन करवाया था। खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग ने मैदानी अमले को निर्देशित किया है कि वे ग्राम पंचायतों से समग्र आई.डी. की जानकारी लेकर ई-उपार्जन में प्रविष्टि करें, जिससे गेहूँ उपार्जन की प्रक्रिया को और बेहतर बनाया जा सके।

राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी की सभी तैयारियाँ कर ली गई हैं। गेहूँ खरीदी के लिए इस वर्ष 2,995 खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। किसानों को अपनी उपज बेचने में असुविधा न हो इसके लिए उपार्जन संस्था द्वारा एसएमएस के जरिए उपार्जन तिथि से किसान के मोबाइल पर यह सूचना दी जाएगी। जिले में गेहूँ उपार्जन की व्यवस्था को प्रभावी बनाने कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति भी गठित की गई है। प्रदेश में समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी के कार्य के लिए स्टेट सिविल सप्लाईज़ कार्पोरेशन को नोडल एजेंसी बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here