गेहूँ खरीदी के शीघ्र भुगतान की व्यवस्था हो

भोपाल, फरवरी 2015/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के किसानों से गेहूँ खरीदी और शीघ्र भुगतान की पुख्ता व्यवस्था करने के निर्देश दिये हैं। बारदाने की पर्याप्त अग्रिम व्यवस्था, परिवहन और भण्डारण व्यवस्था भी गेहूँ उपार्जन शुरू होने से पहले सुनिश्चित करने को कहा।

श्री चौहान गेहूँ उपार्जन की तैयारियों की यहाँ समीक्षा कर रहे थे। बैठक में बताया गया कि इस वर्ष प्रदेश में लगभग 200 लाख मीट्रिक टन गेहूँ का उत्पादन संभावित है। गेहूँ खरीदी के लिये किसानों का पंजीयन चल रहा है। पंजीयन का कार्य 15 फरवरी तक चलेगा।

प्रदेश में गत वर्ष 174 लाख मीट्रिक टन उत्पादन हुआ था। प्रारम्भ में वर्षा के विलम्ब से गत वर्ष 59 लाख 70 हजार हेक्टेयर की तुलना में इस वर्ष 58 लाख 12 हजार हेक्टेयर में गेहूँ की बोनी हुई। गेहूँ की फसल अच्छी होने से गत वर्ष की तुलना में कुछ कम बोनी के बावजूद बम्पर उत्पादन की स्थिति है। गत वर्ष गेहूँ का समर्थन मूल्य 1400 रूपये क्विंटल था। इस वर्ष समर्थन मूल्य बढ़कर 1450 रूपये हो गया है।

बैठक में बताया गया कि इस वर्ष एक लाख मीट्रिक टन के सम्भावित उपार्जन के मद्देनजर बारदाने, परिवहन, भण्डारण की सभी तैयारियाँ की जा रही हैं। किसानों को अधिकतम सात दिन के भीतर भुगतान उपलब्ध करवाने की भी व्यवस्था रहेगी। प्रदेश में किसानों से गेहूँ खरीदने के लिये 3000 खरीदी केन्द्र स्थापित होंगे।

बैठक में मुख्य सचिव अंटोनी डिसा, कृषि उत्पादन आयुक्त आर.के. स्वांई, प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति अशोक वर्णवाल, प्रमुख सचिव सहकारिता अजीत केसरी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here