चुनाव पश्‍चात हिंसा की घटनाएँ रोकें

भोपाल, जनवरी 2015/ राज्य निर्वाचन आयुक्त आर. परशुराम ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से 31 जनवरी को होने वाले नगरीय निकाय निर्वाचन के मतदान की तैयारियों की समीक्षा की। कहा कि भोपाल और इंदौर सहित सभी नगरीय निकाय चुनाव में पोस्ट पोल वायलेंस की घटनाएँ रोकने की पहले से तैयारी करें।

श्री परशुराम ने कहा कि नगरीय निकायों में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने मतदाताओं को जागरूक करें। कर्मचारियों के मानदेय का वितरण मतदान डयूटी में जाने से पहले कर दें। मतदान और मतगणना दिवस में ऑनलाइन जानकारी शीघ्रता से दें। मतदाता पर्ची का वितरण समय-सीमा में करवायें।

आईजी पुलिस मुख्यालय मकरंद देउस्कर ने कहा कि मतदान के बाद स्ट्राँग रूम तक ईव्हीएम मशीन पहुँचाने में विशेष सतर्कता बरतें। कलेक्टर भोपाल निशांत वरवड़े और कलेक्टर इंदौर आकाश त्रिपाठी ने निर्वाचन संबंधी तैयारियों की जानकारी दी। डीआईजी भोपाल और इंदौर ने भी सुरक्षा इंतजाम की जानकारी दी। इंदौर कलेक्टर ने बताया कि इंदौर में 85 आदर्श मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। कर्मचारियों के प्रशिक्षण के बाद उनका टेस्ट लिया गया है। टेस्ट में 40 प्रतिशत से कम अंक आने पर पुन: प्रशिक्षण दिया गया। भोपाल कलेक्टर ने बताया कि भोपाल में 40 वल्नरेबल पॉकेट चिन्हित किये गये हैं।

समीक्षा में कमिश्नर भोपाल एस.बी. सिंह, कमिश्नर इंदौर संजय दुबे, आईजी भोपाल योगेश चौधरी, आईजी इंदौर विपिन माहेश्वरी एवं संबंधित जिलों के कलेक्टर से चर्चा की गई।

31 जनवरी को नगर पालिक निगम भोपाल, इंदौर, जबलपुर, छिन्दवाड़ा और नगर परिषद पटेरा, बनखेड़ी, शमशाबाद, छापीहेड़ा और बड़ौनी में मतदान होगा। नगरपालिका परिषद हरदा और नगर परिषद छनेरा में अध्यक्ष को वापस बुलाने के लिये भी 31 जनवरी को मतदान होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here