जन शिकायतों के निवारण की समीक्षा

भोपाल, जनवरी 2015/ मुख्य सचिव अन्टोनी डिसा ने प्रति सप्ताह मंत्रालय में उनसे भेंट कर समस्याओं से अवगत करवाने वाले आवेदकों के मामलों की नियमित समीक्षा की व्यवस्था की है। हाल ही में जन शिकायत निवारण विभाग के अधिकारी दल ने विभिन्न जिलों का भ्रमण कर लंबित समस्याओं के संबंध में की जा रही कार्यवाही की जानकारी प्राप्त की।

मुख्य सचिव ने जन शिकायत निवारण विभाग के आडिट दल के प्रतिवेदन के आधार पर छह कलेक्टर और तीन पुलिस अधीक्षक को प्रशंसा-पत्र देने के निर्देश दिए हैं।

प्रति गुरुवार को विभिन्न जिलों से मुख्य सचिव से भेंट के लिए मंत्रालय आने वाले आवेदक के प्रकरण प्राय: कलेक्टर, एस. पी. और विभाग स्तर पर निराकृत होते हैं। जो छ: जिला कलेक्टर जन समस्याओं को हल करने में अपेक्षाकृत श्रेष्ठ रहे उनमें शिवपुरी, अशोकनगर, मुरैना, सतना, सीधी और रीवा कलेक्टर शामिल हैं। जिन 3 जिले के पुलिस अधीक्षक को जन समस्याएँ तत्परता से हल करने के लिए प्रशंसा-पत्र मिलेंगे, उनमें अशोकनगर, सीधी और गुना शामिल हैं।

मुख्य सचिव ने हाल ही में रतलाम निवासी एक नौ वर्षीय बालक को कृत्रिम हाथ लगवाने का प्रकरण मंजूर किया है। अब तक विभिन्न 421 प्रकरण में आवेदकों को प्रत्यक्ष राहत दी जा चुकी है। लगभग इतने ही प्रकरण में निराकरण की कार्रवाई प्रचलित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here