तकनीकी के उपयोग पर शिक्षक पुरस्कृत होंगे

भोपाल, फरवरी 2015/ शिक्षा के क्षेत्र में तकनीकी का श्रेष्ठ उपयोग करने वाले शिक्षकों के लिये राष्ट्रीय पुरस्कार की घोषणा की गई है। केन्द्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नई दिल्ली की इस योजना में आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च है। पुरस्कार के लिये शिक्षक निर्धारित प्रपत्र में उचित माध्यम से आवेदन कर सकेंगे। आवेदन लोक शिक्षण संचालनालय को भेजना होगा। पुरस्कार योजना प्राथमिक, माध्यमिक, हाई एवं हायर सेकेण्डरी स्कूल के शिक्षकों के लिये है।

पुरस्कार के लिये शासकीय स्कूल के अलावा स्थानीय निकाय द्वारा संचालित तथा शासन द्वारा अनुदान प्राप्त स्कूल, केन्द्र शासन के स्कूल, सीबीएसई (सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन) एवं सीआईएससीई (कौंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एक्जामिनेशन) द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूल के शिक्षक आवेदन कर सकेंगे।

राज्य शासन ने स्कूल शिक्षा के समस्त संभागीय संयुक्त संचालक एवं जिला शिक्षा अधिकारियों को उनके क्षेत्र में आने वाले समस्त स्कूल के शिक्षकों को पुरस्कार योजना की जानकारी देने को कहा है। अंतिम तिथि के बाद प्राप्त होने वाले आवेदनों पर विचार नहीं होगा।

शिक्षा के क्षेत्र में आईसीटी के उपयोग के लिये स्कूली शिक्षकों की इस योजना में 87 पुरस्कार दिये जायेंगे। योजना उन शिक्षकों को प्रोत्साहित करने के लिये है, जिन्होंने विद्यालयीन पाठ्यक्रम एवं शिक्षण प्रक्रिया को प्रभावशाली बनाने नवीन एकीकृत प्रौद्योगिकी का उपयोग कर विद्यार्थियों में आईसीटी के प्रति जिज्ञासा पैदा की है। यह योजना विद्यालय एवं समाज में शिक्षा की समग्र गुणवत्ता के लिये शिक्षकों के योगदान को भी मान्यता देगी। आवेदन संबंधी अर्हता, नियम, शर्त एवं प्रवेश-पत्र संबंधी जानकारी के लिये केन्द्रीय शैक्षिक प्रौद्योगिकी संस्थान, एनसीईआरटी की वेबसाइट www.ciet.nic.in पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here