तीर्थ-दर्शन योजना: ढोल-ढमाकों के साथ पारंपरिक ढंग से होगी विदाई

तीर्थ-यात्रियों को हबीबगंज स्टेशन से ढोल-ढमाकों के साथ उसी तरह विदा किया जाएगा जैसे कि पंरपरानुसार गाँव एवं शहरों में किया जाता है।

मुख्यमंत्री स्वयं तीर्थ-यात्रियों को तिलक लगाकर, फूलमाला पहनाकर और गमछा देकर ससम्मान विदा करेंगे। तीर्थ-यात्रियों के सम्मान में साधु-संतों द्वारा स्वस्ति-वाचन भी किया जाएगा।

ट्रेन रवाना होने के पहले स्टेशन में विख्यात भजन गायक श्री अनूप जलोटा के सुमधुर भजन होंगे। इस तरह से हर यात्री को लगेगा जैसे वह अपने गाँव या मुहल्ले से तीर्थ-यात्रा के लिए विदा हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here