धीमी पड़ी मानसून की रफ्तार, धूप निकलने से मिली राहत

भोपाल, अगस्‍त 2013/ मानसून की रफ्तार थमने से प्रदेश में फिलहाल कहीं भी अति वृष्टि और बाढ़ के हालात नहीं हैं। प्रदेश में अब तक औसत 807.3 मि.मी. वर्षा हो चुकी है, जो सामान्य औसत वर्षा 498 मि.मी. से 62 प्रतिशत अधिक है। आज प्रदेश में 2.6 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई। पूर्वी मध्यप्रदेश में अब तक 791 मि.मी. और पश्चिमी मध्यप्रदेश में 820 मि.मी. सामान्य औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है।

प्रदेश के 8 जिले में एक हजार मि.मी. से अधिक वर्षा हो चुकी है। ये जिले हैं – होशंगाबाद 1248 मि.मी., सागर 1229, हरदा 1085, विदिशा 1081, नरसिंहपुर 1065, गुना और रायसेन 1008, इन्दौर 1009 मि.मी.। भोपाल जिले में 953, दमोह 962, मण्डला 939 और बैतूल में 951 मि.मी. वर्षा हो चुकी है। खण्डवा जिले के ओंकारेश्वर बाँध के 5 गेट से 101340 क्यूसेक और इन्दिरा सागर बाँध के 12 गेट से 100422 क्यूसेक पानी छोड़ा गया।

अति वृष्टि और वर्षा से प्रदेश में अब तक 52 जन हानि, 229 पशु हानि और 9336 मकान की क्षति हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here