नर्मदा-क्षिप्रा मिलन के लिए 432 करोड़ रूपयों की योजना

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने आज इंदौर जिले में क्षिप्रा नदी के उद्गम स्थल क्षिप्रा कुण्ड में नर्मदा नदी का जल अर्पण किया। माँ नर्मदा को क्षिप्रा नदी से मिलाने के लिये 432 करोड़ रूपये की नर्मदा-क्षिप्रा सिंहस्थ लिंक परियोजना बनायी गयी है। परियोजना से पूरे मालवा क्षेत्र में एक नया इतिहास लिखा जायेगा। दो नदियों नर्मदा तथा क्षिप्रा का संगम होगा तथा बारहमास क्षिप्रा नदी में जल प्रवाहित होगा। इस योजना से मालवा के करीब 70 शहर तथा 3000 गाँव के नागरिकों को सीधा लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज हेलीकाप्टर द्वारा सीधे इंदौर संभाग के खरगोन जिले के ग्राम सिसलिया पहुँचकर माँ नर्मदा का जल कलश में लिया। श्री चौहान हेलीकाप्टर से सीधे इंदौर जिले में स्थित क्षिप्रा के उद्गम स्थल क्षिप्रा टेकरी पहुँचे और माँ नर्मदे हर तथा क्षिप्रा मैया की जय के साथ क्षिप्रा कुण्ड में कलश का जल अर्पित किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने नदी जोड़ने का जो सपना देखा था उसे हम इस योजना के माध्यम से पूरा करने जा रहे हैं। इससे क्षिप्रा नदी सदा प्रवाहमान रहेगी। नर्मदा एवं क्षिप्रा नदी का अनूठा संगम होगा। सिंहस्थ के दौरान धर्मालु एक नहीं दो नदियों के जल से स्नान करेंगे। उन्होंने कहा कि योजना का कार्य शीघ्र शुरू होगा और खरगोन जिले के सिसलिया से इंदौर तक पाईप लाईन से नर्मदा का पानी लाया जायेगा। इसके बाद इंदौर से क्षिप्रा नदी में प्रवाहित किया जायेगा। पहले चरण में पीने के पानी तथा दूसरे चरण में सिंचाई के लिये पानी की आपूर्ति की जायेगी।

नर्मदा-क्षिप्रा-सिंहस्थ लिंक परियोजना के मुख्य बिन्दु

उद्वहन द्वारा जल की मात्रा 5.0 क्यूबिक मीटर
(अ) राईजिंग मेन की कुल लम्बाई 49.00 कि.मी.
(ब) राईजिंग मेन की सड़क के समानांतर लम्बाई 28.00 कि.मी
सिसलिया तालाब की समुद्र तल से ऊंचाई 228.00 मी.
ग्राम उज्जैनी के निकट जिजलावंती नाला की समुद्र तल से 576.00 मी.
उद्वहन की कुल ऊंचाई 348.00 मी.
राईजिंग मेन के पाईप का व्यास 2.00 मी.(एक पक्ति में)
विद्युत मोटर पम्पस् 3 नग(3000 कि.वाट प्रत्येक)
भू-अर्जन (अ) वन क्षेत्र 5.00 हेक्टेयर
(ब) निजी भूमि 70.00 हेक्टेयर
विद्युत मोटर पम्पस् को स्थित करने का स्थान (Booster Places) प्रथम -सिसलिया तालाब, द्वितीय-ग्राम गवालू, तृतीय-ग्राम बाई
टोपोशीट का क्रमांक 46 एन/14,46 एन/15, 55 बी/2, 55 बी/3
योजना की कुल लागत रूपये 432.00 करोड़

इस मौके पर स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री महेन्द्र हार्डिया, विधायक श्री जीतू जिराती, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश परसावदिया तथा अन्य जन-प्रतिनिधि, मुख्य सचिव श्री आर.परशुराम, नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण के श्री रजनीश वैश्य सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here