नाट्य विद्यालय में अब दो वर्षीय पाठ्यक्रम होगा

भोपाल, मार्च 2013/ संस्कृति मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने भारत भवन में मध्यप्रदेश नाट्य विद्यालय के दो वर्षीय पाठ्यक्रम का शुभारंभ किया। विशेषज्ञ समिति द्वारा दूसरे वर्ष के पाठ्यक्रम के लिए चयनित 15 विद्यार्थियों के नामों की घोषणा की। इस अवसर पर नाट्य विद्यालय के सत्र 2012-13 के विद्यार्थियों की नाट्य प्रस्तुति (कथा रंग) का मंचन किया गया। इस प्रस्तुति को वरिष्ठ रंगकर्मी एवं निर्देशक प्रोफेसर देवेन्द्र राज अंकुर द्वारा किया गया है।

संस्कृति विभाग द्वारा प्रदेश एवं देश के युवा रंगकर्मियों को नाट्य विधा के विभिन्न पहलुओं का प्रशिक्षण दिये जाने के उद्देश्य से भोपाल में मध्यप्रदेश नाट्य विद्यालय की स्थापना जून 2011 में की गई थी। विद्यालय के एक वर्षीय पाठ्यक्रम का प्रथम सत्र 8 जुलाई 2011 से प्रारंभ होकर 15 जुलाई 2012 को दीक्षांत समारोह के साथ सम्पन्न हुआ। प्रशिक्षण के दौरान आए सुझावों को सलाहकार समिति की सिफारिश के बाद इंटर्नशिप योजना को पाठ्यक्रम में शामिल करते हुए मार्च 2013 से प्रथम सत्र के चयनित श्रेष्ठ 15 विद्यार्थियों के साथ प्रारंभ किया जा रहा है। सत्र 2012-13 के विद्यार्थियों के लिए इंटर्नशिप अक्टूबर 2013 से प्रारंभ की जाना प्रस्तावित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here