नौ वर्ष में खनिजों का सर्वेक्षण व आकलन लक्ष्य से अधिक

भोपाल, अगस्‍त 2013/ प्रदेश में 9 वर्ष में खनिजों के सर्वेक्षण तथा भण्डारों के आकलन के निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा कार्य किया गया है। इसमें भौमिकी सर्वेक्षण के लिये निर्धारित लक्ष्य 1 लाख 8 हजार वर्ग किलोमीटर के अनुरूप 1 लाख 10 हजार 344 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में सर्वेक्षण किया गया। खनिज भण्डारों के आकलन के लिये निर्धारित वेधन लक्ष्य 45 हजार मीटर के विरुद्ध 52 हजार 222 मीटर वेधन कार्य किया गया। साथ ही निर्धारित लक्ष्य 40 हजार 500 के विरुद्ध 51 हजार 677 मूलकों का विश्लेषण भी किया गया।

सर्वेक्षण कार्य में डोलोमाइट के 229 मिलियन टन भण्डार देवास तथा हरदा जिले में तथा चूना पत्थर के 107 मिलियन टन भण्डार सतना जिले में आंकलित किये गये। इसके अलावा बुरहानपुर तथा झाबुआ जिले में केल्साइट के 93 हजार 850 टन तथा मंदसौर एवं दमोह जिले में लेटेराइट/आयरन ओर के 56 मिलियन टन भण्डार अनुमानित किये गये हैं। इन भण्डारों का भविष्य में दोहन होने पर उद्योग के लिये आधारभूत खनिज प्राप्त होंगे तथा राज्य शासन को खनिज राजस्व प्राप्त हो सकेगा।

इसी प्रकार कोयला खनिज के लिये उत्पादन आधारित कार्य भी खनिज विभाग द्वारा किया गया है। प्रदेश में उपलब्ध खनिजों की अद्यतन जानकारी रखने के लिये जिलेवार खनिज तालिका भी तैयार की जा रही है। अभी तक 35 जिले की खनिज तालिकाओं के प्रतिवेदन बनाये जा चुके हैं।

वर्ष 2004-05 से जून, 2013 तक खनिज विभाग द्वारा अन्वेषण के प्रमुख कार्य किये गये हैं। इनमें वर्ष 2004-05 में देवास जिले में डोलोमाइट खनिज के 20 मिलियन टन तथा हरदा जिले में 13.95 मिलियन टन भण्डार का आकलन किया गया है। बुरहानपुर जिले में केल्साइट का 2510 टन, पन्ना तथा दमोह जिले में सीमेंट श्रेणी, मिश्रित श्रेणी चूना पत्थर का 24 मिलियन टन, कटनी जिले की खनिज तालिका तैयार की गई है। कटनी जिले में ही खनिज बॉक्साइट का 16 मिलियन टन, रेड ऑकर 0.749 मिलियन टन, क्ले का 23.039 मिलियन टन भण्डार का आकलन किया गया है। वर्ष 2005-06 में देवास जिले में डोलोमाइट का 41.37 मिलियन टन, हरदा में 18.25 मिलियन टन, बुरहानपुर में केल्साइट का 762 टन, सतना (पगरा) मिश्रित श्रेणी चूना पत्थर का 12.72 मिलियन टन, झाबुआ (डाबरी खारी क्षेत्र) में चूना पत्थर का 19.19 मिलियन टन भण्डार का आकलन किये जाने के साथ ही छतरपुर तथा कटनी जिले की खनिज तालिका भी तैयार की गई।

वर्ष 2006-07 में देवास जिले में डोलोमाइट का 19.44 मिलियन टन, झाबुआ में केल्साइट का 9.349 मिलियन टन तथा मुरैना जिले में चूना पत्थर का 10.12 मिलियन टन अनुमानित भण्डार का आकलन हुआ। वर्ष 2007-08 में देवास जिले में डोलोमाइट का 84 मिलियन टन, वर्ष 2008-09 में देवास जिले में डोलोमाइट का 40.15 मिलियन टन, मंदसौर जिले में लेटेराइट तथा ऑयरन का 70.52 मिलियन टन, वर्ष 2009-10 में छतरपुर जिले में डोलोमाइट का 08.39 मिलियन टन, सतना में लाइमस्टोन का 45 मिलियन टन, नीमच एवं मंदसौर जिले में लेटेराइट तथा ऑयरन का 01.06 मिलियन टन, वर्ष 2011-12 में छतरपुर जिले में डोलोमाइट का 12.73 मिलियन टन, सतना में लाइमस्टोन का 25 मिलियन टन, नीमच तथा मंदसौर जिले में लेटेराइट का 35 मिलियन टन, वर्ष 2011-12 में छतरपुर जिले में डोलोमाइट खनिज का 14.04 मिलियन टन, सतना में लाइमस्टोन का 25 मिलियन टन, नीमच तथा मंदसौर जिले में लेटेराइट खनिज का 25.10 मिलियन टन भण्डार का आकलन किया जाना शामिल है। वर्ष 2012-13 में 14 हजार 377 वर्ग किलोमीटर में सर्वेक्षण और 5330.25 मीटर वेधनका कार्य किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here