परम्परागत खेलों के लिए होगा “मुख्यमंत्री कप

भोपाल, अगस्त 2015/ प्रदेश में खेलों के प्रति युवाओं में जागरूकता पैदा करने नित नये प्रयोग किये जा रहे हैं। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया की पहल पर अब युवाओं को परम्परागत खेल जैसे कुश्ती, रस्साकशी, कबड्डी, खो-खो, मिनी मैराथन, व्हाली-बॉल, टेनिस-बॉल, टेनिस बॉल क्रिकेट, एथलेटिक्स आदि से रू-ब-रू करवाने ‘मुख्यमंत्री कप” का आयोजन किया जायेगा। मुख्य उद्देश्य प्रतिभावान खिलाड़ियों की पहचान विकासखण्ड, ग्राम-स्तर पर करना तथा उदीयमान खिलाड़ियों को प्रशिक्षण के पर्याप्त अवसर उपलब्ध करवाना है।

परम्परागत देशी खेलों को बढ़ावा देने के लिये कुश्ती प्रतियोगिता पायलट प्रोजेक्ट के रूप में चार जिले इंदौर, उज्जैन, खण्डवा तथा बुरहानपुर में की जायेगी। ‘मुख्यमंत्री कप” चार चरण में किया जायेगा। पहले चरण में ब्लॉक मुख्यालय, द्वितीय जिला मुख्यालय, तृतीय चरण में 10 संभागीय मुख्यालय तथा चौथे चरण में राज्य-स्तर पर संभाग से चयनित खिलाड़ी/खिलाड़ियों के दलों की लीग प्रतियोगिता की जायेगी। ‘मुख्यमंत्री कप” में 16 वर्ष से कम आयु समूह के बालक एवं बालिका खिलाड़ी सम्मिलित होंगे। आयु की गणना 31 दिसम्बर, 2015 से की जायेगी।

‘मुख्यमंत्री कप” के तहत ब्लॉक-स्तरीय प्रतियोगिता के लिये चार खेल एथलेटिक्स, कबड्डी, खो-खो, व्हालीबाल के लिये 20 हजार की राशि प्रति विकासखण्ड उपलब्ध करवायी जायेगी। जिला-स्तरीय प्रतियोगिताओं के लिये 51 जिले में प्रत्येक जिले को एक लाख रुपये के मान से राशि उपलब्ध करवायी जायेगी। कुश्ती प्रतियोगिता के लिये 25 हजार रुपये प्रति जिले के मान से 4 जिलों को राशि दी जायेगी। संभागीय-स्तर पर चार खेलों के लिये 40 हजार रुपये के मान से संभागीय आयोजन वाले जिले को उपलब्ध होगी। राज्य-स्तरीय प्रतियोगिता के लिये दलीय खेलों (टीम गेम) जैसे कबड्डी, खो-खो तथा व्हॉली-बॉल में प्रथम, द्वितीय तथा तीसरे स्थान प्राप्त करने वाली बालक/बालिका टीम को क्रमश: एक लाख, 75 हजार तथा 50 हजार रुपये के नगद पुरस्कार दिये जायेंगे। व्यक्तिगत खेल (एथलेटिक्स) में प्रथम, द्वितीय एवं तीसरे स्थान प्राप्त करने वाले को क्रमश: 10 हजार, 7 हजार तथा 5 हजार रुपये दिये जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here