पाँचवें एक्सपोर्टेक में 1201 करोड़ रुपए के निर्यात अनुबंध

भोपाल, मार्च 2013/ मध्यप्रदेश के छोटे उद्यमियों को दूसरे देशों में अपने उत्पादों के निर्यात का मंच उपलब्ध करवाने के लिये भोपाल में चल रही तीन दिवसीय रिवर्स बायर-सेलर मीट एमपी एक्सपोर्टेक का आज समापन हुआ। मीट में मध्यप्रदेश के उद्यमियों तथा विदेशी खरीदारों के बीच कुल 1201 करोड़ रुपये के निर्यात अनुबंध हुए। समापन अवसर पर लघु उद्योग निगम के अध्यक्ष अखण्ड प्रताप सिह, अपर मुख्य सचिव उद्योग पी.के.दाश और उद्योग आयुक्त टी.धर्माराव की उपस्थिति में 6 निर्यात अनुबंध सम्पन्न हुए।

भारत सरकार के उद्योग विभाग तथा मध्यप्रदेश लघु उद्योग निगम द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित इस समागम के समापन पर कुछ विदेशी खरीदारों तथा मध्यप्रदेश के उद्यमियों ने अपने अनुभव बताते हुए एक्सपोर्टेक को एक बहुत सार्थक कदम निरूपित किया। विदेशी खरीदारों ने यहाँ की गई व्यवस्थाओं, मध्यप्रदेश सरकार के अतिथि-सत्कार और अच्छी कार्य-संस्कृति की सराहना की।

सबसे अधिक अनुबंध इंजीनियरिंग में

एक्सपोर्टेक में सर्वाधिक 628 करोड़ 23 लाख रुपये के अनुबंध इंजीनियरिंग और मशीन टूल्स के क्षेत्र में किये गये। दूसरे क्रम पर पॉवर और एनर्जी उत्पाद रहे जिनके लिये 331 करोड़ 38 लाख रुपये के अनुबंध हुए। तीसरे क्रम पर फूड, एग्रो और हर्बल उत्पाद रहे जिनके लिये 199 करोड़ 59 लाख रुपये के अनुबंध सम्पन्न हुए। पेकेजिंग और प्लास्टिक उत्पादों के लिये 17 करोड़ 14 लाख, प्रोडक्स एण्ड सर्विसेज टेक्नालॉजी ट्रांसफर के क्षेत्र में 16 करोड़ 50 लाख तथा टेक्सटाइल्स के क्षेत्र में 8 करोड़ 48 लाख रुपये के अनुबंध हुए।

जिलावार स्थिति

निर्यात अनुबंध के मामले में सबसे आगे इंदौर जिला रहा। इंदौर जिले के उद्यमियों के साथ विदेशी खरीदारों ने 750 करोड़ 50 लाख रुपये के अनुबंध किये। दूसरे क्रम पर भोपाल रहा जहाँ के उद्यमियों के साथ 394 करोड़ 75 लाख रुपये के अनुबंध हुए। मंदसौर के उद्यमियों के साथ 30 करोड़ 25 लाख, जबलपुर के 13 करोड़ 75 लाख, देवास के 10 करोड़ 51 लाख तथा बैतूल जिले के उद्यमियों के साथ एक करोड़ 11 लाख रुपये के अनुबंध हुए। इसके अलावा धार के उद्यमियों के साथ 14 लाख तथा उज्जैन के उद्यमियों के साथ 35 लाख रुपये के अनुबंध हुए।

लउनि तथा युगांडा के बीच अनुबंध

एक्सपोर्टेक के दौरान मध्यप्रदेश लघु उद्योग निगम द्वारा पाँच वर्ष के लिये युगांडा कन्ज्यूमर को-आँपरेटिव यूनियन के साथ उत्पाद, सेवाएँ एवं तकनीकी हस्तांतरण संबंधी अनुबंध किया गया। अनुबंध के अनुसार यूनियन युगांडा में मध्यप्रदेश के उत्पादों के विक्रय के लिये मार्केटिंग चैनल उपलब्ध करवायेगा। बदले में मध्यप्रदेश लघु उद्योग निगम युगांडा के उत्पादों को प्रदेश और प्रदेश के बाहर मार्केट उपलब्ध करवाने में सहायता करेगा। साथ ही मध्यप्रदेश लघु उद्योग निगम पैकेजिंग सेवाओं से संबंधित तकनीकी युगांडा कन्ज्यूमर को-ऑपरेटिव को उपलब्ध करवायेगा।

इस अवसर पर लघु उद्योग निगम के अध्यक्ष अखण्ड प्रताप सिंह ने कहा कि अभी तक हुए एक्सपोर्टेक में यह पाँचवां एक्सपोर्टेक अनुबंधों की दृष्टि से सबसे ज्यादा सफल रहा। इसमें 77 विदेशी खरीदारों के साथ-साथ 20 देश के 26 डिप्लोमेट शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here