आलू, प्याज और लहसुन का उत्पादन बढ़ेगा

भोपाल, मार्च 2013/ मध्यप्रदेश में आलू, प्याज और लहसुन का उत्पादन बढ़ाने के प्रयास लगातार जारी हैं। फिलहाल प्रदेश में आलू का उत्पादन 88 हजार हेक्टेयर में होता है और इसका उत्पादन लगभग 18 लाख 17 हजार मीट्रिक टन से अधिक है। इंदौर तथा इसके आसपास के क्षेत्रों के अलावा छिंदवाड़ा, उज्जैन, शाजापुर, देवास, मुरैना, सतना, राजगढ़, जबलपुर, सागर, पन्ना, दमोह, टीकमगढ़, छतरपुर, विदिशा, रतलाम और बैतूल जिले में आलू का उत्पादन होता है।

इसी प्रकार लगभग 5400 हेक्टेयर में लहसुन का उत्पादन 57 हजार मीट्रिक टन से अधिक होता है। लहसुन के उत्पादन में उज्जैन, मंदसौर, नीमच, रतलाम, देवास, इंदौर, धार और बड़वानी जिले आगे हैं। प्याज की खेती 11 हजार से अधिक हेक्टेयर में होती है और इसका उत्पादन 17 लाख मीट्रिक टन से अधिक है। प्याज की फसल इंदौर, खंडवा, बड़वानी, उज्जैन, मंदसौर, रतलाम, शाजापुर, रीवा, सतना, विदिशा, राजगढ़, जबलपुर, सागर और पन्ना में प्रमुख रूप से ली जाती है।

इंदौर में 9 मार्च को एक राष्ट्र-स्तरीय संगोष्ठी में इन फसलों का उत्पादन बढ़ाने के साथ-साथ इनके भण्डारण तथा बाजार के विषय में विशेषज्ञ चर्चा करेंगे। उद्यानिकी विभाग द्वारा लहसुन की खेती पर किसान को अधिकतम 12 हजार 500 रुपये का अनुदान 2 हेक्टेयर तक दिया जाता है। यंत्रों पर 50 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here