प्रदेश को पूर्ण स्वस्थ बनाने में संसाधनों की कमी नहीं

भोपाल, सितंबर 2014/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश को पूर्ण स्वस्थ बनाने के लिये संसाधनों की कमी नहीं है। इसके लिये जन-मानस को भी जागृत होना होगा। स्वास्थ्य केवल सरकारी नहीं हर परिवार से जुड़ा विषय है। समाज शत-प्रतिशत संस्थागत प्रसव और बेटा-बेटी के बीच भेदभाव दूर करने में सरकार के साथ एकजुट हो।

मुख्यमंत्री यहाँ ममता अभियान के ममता संकल्प दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने ममता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही ममता अभियान के लिये तैयार की गयी दृश्य-श्रव्य प्रचार-प्रसार सामग्री और विभिन्न सॉफ्टवेयर का लोकार्पण किया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा विशेष रूप से उपस्थित थे।

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की हर ग्राम पंचायत में विशेष ग्राम सभा बुलाकर मातृ एवं शिशु मृत्यु दर के कलंक को समाप्त करने के लिये प्रारम्भ ममता अभियान को सफल बनाने का संकल्प लिया जाये। पूरे प्रदेश में लोगों को जागरूक करने के लिये ममता सम्मेलन किये जायं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश विकास दर के मामले में देश में अग्रणी है। कृषि विकास दर देश में ही नहीं दुनिया में सबसे अधिक मध्यप्रदेश में है। विकास के हर मापदण्ड पर मध्यप्रदेश तेजी से बढ़ रहा है, पर विकास का लाभ आम आदमी तक पहुँचे तब ही विकास सार्थक है। हम केवल सड़क, बिजली, सिंचाई और विकास दर बढ़ने को ही विकास नहीं मानते। अगर माँ-बच्चे की मृत्यु होती रहे, बच्चे कुपोषण का शिकार होते रहें, विकास का प्रकाश आम गरीब परिवार तक नहीं पहुँचे, तो किस बात का विकास। माँ, बहन, बेटियों के लिये बनायी गयी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश में महिलाओं के सामाजिक, राजनैतिक और आर्थिक सशक्तिकरण के लिये उल्लेखनीय कार्य किये गये हैं। जल्द ही एक और महिला पंचायत की जायेगी।

स्वास्थ्य मंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिये जन-जागरण अभियान चलाया जा रहा है। राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण के लिये लगातार काम कर रही है। प्रदेश में आज प्रतिदिन 4 लाख मरीज को नि:शुल्क दवाई, 75 हजार मरीज की जाँच और 5000 मरीज का नि:शुल्क परिवहन किया जा रहा है। सांसद आलोक संजर ने कहा कि अभियान का संदेश घर-घर तक पहुँचाकर इसे सार्थक बनायें। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रवीर कृष्ण ने ममता अभियान की रूपरेखा बतायी। कार्यक्रम में विधायक विश्वास सारंग, सचिव स्वास्थ्य श्रीमती सूरज डामोर और आयुक्त स्वास्थ्य पंकज अग्रवाल भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here