प्रदेश में केन्द्रीकृत टूरिस्ट ट्रेकिंग सिस्टम बनेगा

भोपाल, अक्टूबर  2015/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में केन्द्रीकृत टूरिस्ट ट्रेकिंग सिस्टम बनाया जायेगा। इसके तहत प्रदेश में आने वाले पर्यटकों की सुविधाओं का ध्यान रखा जायेआ और उनकी कठिनाईयों को दूर करने की केंद्रीकृत व्यवस्था की जायेगी। हर वर्ष प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति और लोक कला के लिये नर्मदा के किनारे बड़ा आयोजन किया जायेगा। मुख्यमंत्री यहां एम.पी.ट्रेवल मार्ट के उद्घाटन समारोह में संबोधित कर रहे थे। इस ट्रेवल मार्ट में पर्यटन उद्योग से जुड़े देश-विदेश के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्रशिक्षित गाईड्स उपलब्ध कराने के लिये वृहद प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया जायेगा। इसके तहत पर्यटन स्थलों पर विभिन्न भाषाओं के जानकार गाईड्स उपलब्ध रहेंगे। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश पर्यटन की दृष्टि से अद्भुत प्रदेश है। यहां पर वन्य जीवन, धार्मिक और हेरिटेज पर्यटन में व्यापक संभावनाएं हैं। प्रदेश में अगले वर्ष सिंहस्थ आयोजित हो रहा है, जिसमें देश-विदेश से पांच करोड़ श्रद्धालु आयेंगे। इसी दौरान वैचारिक महाकुंभ आयोजित होगा, जिसमें दुनिया भर से आये विद्वान मानव कल्याण और पर्यावरण संरक्षण पर विचार विमर्श करेंगे तथा सिंहस्थ घोषण पत्र जारी होगा।

श्री चौहान ने कहा कि पर्यटन उद्योग में रोजगार सृजन के व्यापक अवसर है। प्रदेश की विकास दर और कृषि विकास दर देश में सर्वाधिक है। प्रदेश में रोड कनेक्टीविटी बेहतर है तथा चौबीस घंटे विद्युत आपूर्ति उपलब्ध है। प्रदेश में सिंचाई क्षमता साढ़े 7 लाख हेक्टर से बढ़कर 36 लाख हेक्टर पहुंच गयी है। हमारी संस्कृति में सारे विश्व को एक परिवार माना गया है। प्रदेश में पर्यटन विकास के लिये प्राप्त सुझावों पर क्रियान्वित किया जायेगा।

पर्यटन राज्य मंत्री सुरेंद्र पटवा ने कहा कि प्रदेश ने पर्यटन के क्षेत्रों में विशिष्ट पहचान बनायी है। यहाँ पर्यटकों की सुविधाओं और सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। प्रदेश में बीते दस वर्षों में अभूतपूर्व प्रगति हुई है। सांस्कृतिक आयोजनों के कलेन्डर में पर्यटन उत्सवों को भी शामिल किया जायेगा।

आरंभ में प्रमुख सचिव वीरा राणा ने स्वागत भाषण दिया। उन्होंने कहा कि ट्रेवल मार्ट के आयोजन का उद्देश्य प्रदेश की पर्यटन संभावनाओं से अवगत कराना है। प्रदेश में तीन विश्व धरोहरें, कई नेशनल पार्क और ज्योर्तिंलिंग है। राज्य पर्यटन विकास निगम के प्रबंध संचालक हरिरंजन राव ने प्रदेश के विकास और पर्यटन संभावनाओं पर प्रस्तुतीकरण दिया। कार्यक्रम में इंडियन टूर ऑपरेटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सुभाष गोयल ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में देश-विदेश से आये पर्यटन उद्योग से जुड़े प्रतिभागी उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन राज्य पर्यटन विकास निगम की अपर प्रबंध संचालक तन्वी सुन्डियाल ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here