मध्यप्रदेश की तर्ज पर कर्नाटक में बनेगी नीति

भोपाल, जनवरी 2015/ मध्यप्रदेश में ग्रामीण सड़कों के विकास और सुधार के क्षेत्र में अनुकरणीय कार्य हुए हैं। पिछले वर्षों में देश के अनेक राज्य के प्रतिनिधि-मंडल ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क, मुख्यमंत्री ग्राम सड़क और पंच-परमेश्वर योजना के जरिये मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में संपर्क सुविधाओं के विकास का अवलोकन कर अपने-अपने राज्य में इन योजनाओं को लागू किया है। इसी सिलसिले में कर्नाटक राज्य के जन-प्रतिनिधियों की समिति ने यहाँ पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर विभिन्न ग्रामीण सड़क योजनाओं की विशेषताओं को जाना।

कर्नाटक सरकार ने ग्रामीण सड़कों के विकास और सुधार के लिये बनाई जाने वाली नीति और कार्य-योजना का ड्राफ्ट तैयार करने विधायक ईश्वरा खांडरे की अध्यक्षता में एक समिति गठित की है। तेरह सदस्यीय इस समिति में विधायक तथा विधान परिषद के सदस्य और वरिष्ठ शासकीय अधिकारी शामिल है।

ग्रामीण सड़कों के विकास और सुधार कार्यों के अध्ययन के लिये प्रदेश के तीन दिवसीय भ्रमण पर आई कर्नाटक की समिति ने यहॉ बैठक में राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा की। समिति के सदस्यों ने ग्रामीण सड़क तथा आवास विकास प्राधिकरण मध्यप्रदेश की मुख्य कार्यपालन अधिकारी अलका उपाध्याय से चर्चा कर मध्यप्रदेश में क्रियान्वित ग्रामीण सड़क विकास योजनाओं की विस्तार से जानकारी ली। बैठक में विभिन्न वित्तीय संसाधनों तथा मनरेगा अभिसरण से संचालित मुख्यमंत्री ग्राम सड़क, पंच-परमेश्वर, सुदूर ग्राम संपर्क सड़क और खेत सड़क योजना की विशेषताओं के बारे में भी प्रस्तुतीकरण हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here