मध्यप्रदेश के विकास पर मंदी का असर नहीं

भोपाल, नवम्बर 2015/ वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने नई दिल्ली में भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला-2015 में मध्यप्रदेश दिवस कार्यक्रम का दीप जलाकर कर शुभारम्भ किया। श्रीमती सिंधिया ने बताया कि जब पूरा विश्व मंदी के दौर से गुजर रहा था तब स्वावलम्बी होने के कारण हमारे देश पर मंदी कोई विशेष असर नहीं पड़ा। इसी प्रकार मध्यप्रदेश के विकास पर भी मंदी का कोई खास असर नहीं पड़ा। यह हमारी नीतियों और कुशल प्रबंध एवं प्रशासन के कारण संभव हो पाया है। वृद्धि दर चाहे वह कृषि के क्षेत्र में हो या फिर औद्योगीकरण दोनों ही क्षेत्र में दोहरे अंक से कम नहीं हुई है। कार्यक्रम में प्रमुख सचिव उद्योग मोहम्मद सुलेमान, आयुक्त एवं प्रबंध संचालक लघु उद्योग निगम व्ही.एल. कान्ताराव भी मौजूद थे।

श्रीमती सिंधिया ने राज्य के औद्योगिक विकास एवं निवेश की सम्भावनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मध्यप्रदेश मेले में फोकस स्टेट होने के साथ पूरे भारत में औद्योगिक निवेश के फोकस स्टेट के रूप में उभरा है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में देश में मध्यप्रदेश का 5वाँ स्थान है। उद्योगों के लिए भूमि आवंटन और निर्माण की अनुमति देने में प्रदेश एक नम्बर पर है।

प्रदेश में बिजली, पानी, भूमि और कुशल श्रमिकों की प्रचुर उपलब्धता के कारण उद्योगों के अनुकूल परिस्थितियाँ हैं। राज्य सरकार द्वारा भी निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक सहूलियतें दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में फूड प्रोसेसिंग, आटोमोबाइल्स, इंजीनियरिंग गुडस, कौशल विकास, दवाइयाँ, सूचना-प्रौद्योगिकी, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास, नवकरणीय ऊर्जा, टेक्सटाइल्स और पर्यटन के क्षेत्र में असीम संभावनाऍं हैं। उन्होंने प्रदेश के पेवेलियन का अवलोकन भी किया।

इस वर्ष मेले की थीम “Make in India” निधारित की गयी है। इसी तारतम्य में मध्यप्रदेश मण्डप की थीम “Make in India” एवं “Make in Madhya Pradesh” रखी गयी है। मंडप में सरकारी क्षेत्र से लगभग 15 विभाग और निजी क्षेत्र के लगभग 21 विभाग ने भाग लिया। सरकारी क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन तथा मंडप में सिंहस्थ-2016 के प्रचार-प्रसार के लिए जनसम्पर्क विभाग को प्रथम पुरस्कार मिला । यह पुरस्कार मध्यप्रदेश सूचना केन्द्र, नई दिल्ली के प्रभारी संजय सक्सेना ने ग्रहण किया। द्वितीय पुरस्कार वन विभाग के Bamboo Mission को मिला। निजी क्षेत्र में पहला पुरस्कार मंडीदीप के Zira उद्योग को दिया गया। द्वितीय पुरस्कार मंडीदीप के ट्राइडेंट प्रायवेट लिमिटेड को दिया गया। जूरी का विशेष पुरस्कार मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम को दिया गया। इसी क्षेत्र में द्वितीय पुरस्कार पीथमपुर के शक्ति पम्प्स और तृतीय पुरस्कार पीथमपुर की प्रतिभाग सिन्टेक्स को दिया गया। आवासीय आयुक्त आर.के. चतुर्वेदी ने मंडप और विकास कार्यक्रमों का उल्लेख किया। मध्यप्रदेश दिवस पर लाल चौक थियेटर प्रगति मैदान में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए। कार्यक्रम में कबीर गायन और नौरता नृत्य का प्रदर्शन किया गया।

मध्यप्रदेश पेवेलियन

मध्यप्रदेश पेवेलियन में स्थित सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक धरोहरों जैसे साँची स्तूप, खजुराहो मंदिर, ग्वालियर किले के साथ संभावित आधुनिक सुविधा जैसे विन्ड मिल, मेट्रो रेल आदि का समावेश किया गया है। प्रदेश के विभिन्न सेक्टर की गतिविधियों को भी प्रदर्शित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here