मध्यप्रदेश को मिला राष्ट्रीय ग्रीनटेक गोल्ड अवार्ड

भोपाल, फरवरी 2015/ मध्यप्रदेश को राष्ट्रीय ग्रीनटेक सी एस आर (कारर्पोरेट-सोशल रिस्पांसिबिलिटी) गोल्ड अवार्ड-2104 से नवाजा गया है। यह अवार्ड स्थानीय समुदाय और पर्यावरण का विकास तथा संरक्षण में महत्वपूर्ण कार्य के लिए दिया गया है। मध्यप्रदेश वन विकास निगम के प्रबंध संचालक आर.एन. सक्सेना के नेतृत्व में गई टीम ने गत 29 जनवरी 2015 को कोलकाता में ग्रीनटेक एन्वायरमेंट एण्ड सी.एस.आर की वार्षिक कांफ्रेंस में अवार्ड ग्रहण किया। पुरस्कृत टीम ने वन मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार को यह अवार्ड सौंपा। वन मंत्री ने इस उपलब्धि पर बधाई देते हुए अधिकारियों और कर्मचारियों के प्रयासों की सराहना की।

डॉ.शेजवार ने कहा कि वन विकास निगम प्रॉफिट ऑफ्टर टैक्स (पीटीएस) का कम से कम दो प्रतिशत सामाजिक दायित्वों पर व्यय करता है। निगम में वर्ष 2014 में स्थानीय समुदायों के प्रति अपने सामाजिक उत्तरदायित्वों के निर्वहन के तहत वन क्षेत्रों में रहने वाले ग्रामीणों की आर्थिक और सामाजिक उन्नति के लिए मछली पालन एवं कोसा कृमि पालन के माध्यम से रोजगार के अतिरिक्त अवसर निर्मित किये हैं। प्रदेश में निगम ने 617 तालाब बनवाए जिनमें स्थानीय समुदाय को न केवल बड़ी मात्रा में मछली मिली बल्कि खेतों को सिंचाई के लिए भी पर्याप्त पानी मिल सका। इन गाँवों में स्वास्थ्य शिविरों के साथ ही युवाओं को खेलकूद सामग्री भी वितरित की गई है।

श्री आर.एन. सक्सेना ने बतायाकि निगम ने पर्यावरण सुधार और वनों के विकास के लिए 2 लाख 71 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सागौन और बाँस के वन लगाये हैं। इससे पैदा वन सम्पदा का शुद्ध मूल्य 3500 करोड़ रुपये से अधिक है। निगम हर साल वन समितियों को लाभांश देता है। पिछले 6 वर्ष में वन समितियों को 24 करोड़ 59 लाख रुपए का लाभांश दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here