मध्यप्रदेश दिवस के रूप में मनाया जायेगा प्रदेश का स्थापना दिवस

भोपाल। मध्यप्रदेश का स्थापना दिवस एक नवम्बर को पूर्व वर्ष की तरह मध्यप्रदेश दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इसके साथ ही एक से 30 नवम्बर तक विभिन्न कार्यक्रम भी होंगे। एक नवम्बर को जिला-स्तर पर मुख्य समारोह प्रात: 10.30 बजे प्रारंभ होगा। समारोह में मुख्य अतिथि द्वारा ध्वजारोहण, फिर राष्ट्रगान और इसके बाद मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया जाएगा। मुख्य अतिथि द्वारा प्रदेश के विकास एवं समृद्धि के लिए दृढ़ प्रतिज्ञ होने का संकल्प भी दिलवाया जाएगा।

जिला-स्तरीय कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, मीसा-बंदियों, शहीद सैनिकों के परिवारों, जन-प्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों, व्यवसायियों, उद्योगपतियों, धर्म-गुरुओं, स्वयंसेवी संस्थाओं, विद्यालय एवं महाविद्यालय के विद्यार्थियों, अधिकारी-कर्मचारी और ‘आओ बनाये अपना मध्यप्रदेश अभियान’ में गठित समिति के पदाधिकारियों को आमंत्रित किया जायेगा।

मध्यप्रदेश दिवस के अवसर पर बेटी बचाओ कार्यक्रम, जल-संरक्षण, हरियाली महोत्सव, ग्राम में स्वच्छता एवं साफ-सफाई कार्य, ऊर्जा संरक्षण एवं बिजली का अपव्यय रोकना, नशा-मुक्ति कार्यक्रम एवं शासकीय भवनों की साफ-सफाई के कार्यों में से कोई भी एक कार्य प्रारंभ किया जायेगा। इसके अतिरिक्त भी कोई अन्य थीम चुनकर जिला प्रभारी मंत्री के परामर्श से कार्य करवाए जा सकेंगे। प्रत्येक जिले में मैराथन दौड़, रैली और प्रभात-फेरी भी होगी। मैराथन दौड़ तथा रैली में 18 वर्ष से अधिक आयु के नागरिक शामिल होंगे। जिला मुख्यालय पर स्थित प्रमुख शासकीय भवनों पर एक नवम्बर की रात को रोशनी की जायेगी।

विकासखण्ड-स्तर पर होने वाले कार्यक्रमों का स्वरूप भी जिला-स्तर के कार्यक्रमों की तरह होगा। विकासखण्ड-स्तर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्र के विधायक होंगे। जहाँ पर विधायक नहीं होंगे, वहाँ जनपद अध्यक्ष मुख्य अतिथि होंगे। विकासखण्ड मुख्यालय के अतिरिक्त स्थित नगर पालिका एवं नगर पंचायत क्षेत्र में होने वाले कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संबंधित निकाय के अध्यक्ष होंगे।ग्राम-पंचायत स्तर पर भी इसी तरह के कार्यक्रम आयोजित होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता संबंधित सरपंच करेंगे। इस दिन ग्राम-सभा भी होगी।

इन कार्यक्रमों के अतिरिक्त संभाग, जिला एवं विकासखण्ड-स्तर पर ‘आओ बनाये अपना मध्यप्रदेश’ थीम पर चित्रकला, निबंध एवं भाषण प्रतियोगिताएँ होगी। इसके अतिरिक्त स्थानीय एवं लोकप्रिय खेल एवं अन्य प्रतियोगिताएँ भी करवाई जा सकेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here