मध्यप्रदेश सबसे बड़ा गेहूँ निर्यातक प्रदेश

भोपाल, मार्च 2013/ मध्यप्रदेश के गेहूँ की उच्च गुणवत्ता के कारण विदेशों में सर्वाधिक मांग है। मार्च माह में प्रदेश के तीन लाख मी. टन गेहूँ की अतिरिक्त मांग अन्य देशों से आई है। उल्लेखनीय है कि अब तक प्रदेश का 17 लाख मी. टन गेहूँ निर्यात किया जा चुका है। भारतीय खाद्य निगम के सहयोग से मध्यप्रदेश ने यह उपलब्धि हासिल की है। बीते वर्ष प्रदेश में 85 लाख मी. टन गेहूँ का उपार्जन हुआ था। इस वर्ष प्रदेश में गेहूँ के उत्पादन और उपार्जन में आशातीत वृद्धि होगी। प्रदेश में गेहूँ की बोनस सहित खरीदी की करीब 12 हजार करोड़ की राशि किसानों के खातों में भेजी गई। प्रदेश में गत नौ वर्ष में गेहूँं का उत्पादन लगभग तिगुना हो गया है। आगामी 15 मार्च से प्रारंभ हो रहे गेहूँ उपार्जन पर किसानों को 100 के स्थान पर 150 रुपए प्रति क्विंटल बोनस राशि दी जाएगी। देश के प्रमुख गेहूँ उत्पादक प्रांतों में शामिल होकर मध्यप्रदेश ने कृषि क्षेत्र में प्रतिष्ठा अर्जित की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here