मन ने कहा बच्चों के बीच चलो शिवराज

भोपाल, नवम्बर 2015/ भदभदा रोड पर स्थित शासकीय पोस्ट मैट्रिक अनुसूचित जनजाति बालक छात्रावास के विदयार्थियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा जब उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अचानक अपने बीच पाया। ये छात्र छात्रावास प्रांगण में छात्रावास दिवस और मध्यप्रदेश स्थापना दिवस समारोह मना रहे थे। मुख्यमंत्री का काफिला अपनी ओर आता देख उन्हें विश्वास नहीं हुआ। जब मुख्यमंत्री अपने वाहन से उतरे तो छात्र खुशी से झूम उठे।

श्री चौहान राज्य स्तरीय पुलिस कंट्रोल रूम में महत्वाकांक्षी योजना डायल 100 का शुभारंभ कर निवास लौट रहे थे। अचानक उन्होंने अपना काफिला बच्चों की ओर मोड़ दिया। मुख्यमंत्री को अपने बीच आते देख विद्यार्थी खुशी से झूम उठे और जिन्दाबाद के नारे लगाने लगे। मुख्यमंत्री सभी बच्चों से स्नेह से मिले और उनसे हाथ मिलाया। मुख्यमंत्री को ऐसे सहज भाव से मिलते देख छात्र अभिभूत हो गये।

श्री चौहान ने सभी बच्चों को मध्यप्रदेश स्थापना दिवस की बधाई दी। विद्यार्थियों की उत्सुकता देखते हुए उन्होंने कहा कि कार्यक्रम से वापस जाते हुए जब बच्चों को देखा तो मन ने कहा कि बच्चों के बीच चलो शिवराज और गाड़ी मोड़ ली। इस पर बच्चों ने जोर-जोर से जिंदाबाद के नारे लगाये।

श्री चौहान ने विद्यार्थियों से कहा कि मेहनत, लगन, हिम्मत और धैर्य से असंभव से असंभव काम भी सफलतापूर्वक पूरा किया जा सकता है। उन्होंने छात्रों से कहा कि वे पढ़ाई पर ध्यान दें। बड़े शिक्षा संस्थानों में पढ़ने जायें। पैसे की चिंता छोड़ दें। उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश लेने पर सरकार पढ़ाई का खर्च उठायेगी। इस अवसर पर अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र मरावी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here