महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता में कमी न आए

भोपाल, अप्रैल 2013/ मुख्य सचिव आर. परशुराम ने महिला अपराधों पर नियंत्रण और महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता से संबंधित प्रयासों की विस्तृत समीक्षा की है। हाल  ही में हुई कुछ घटनाओं के संदर्भ में इस राष्ट्रीय समस्या पर  चिंता व्यक्त करते हुए राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों का ब्यौरा भी बैठक में रखा गया और भावी रणनीति पर चर्चा की गई । मुख्य सचिव ने अपर मुख्य सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक, प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास और अन्य अधिकारियों के साथ इस मुद्दे पर बातचीत की और कहा कि महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता में कमी नहीं आनी चाहिए । बैठक में ग्राम रक्षा समितियों की तर्ज पर बड़े नगरों में  ” नेबरहुड पुलिस” का प्रायोगिक तौर पर उपयोग करने पर भी चर्चा हुई । इंगलैंड सहित कुछ देशों में प्रचलित नेबरहुड पुलिस की अवधारणा में जिम्मेदार नागरिक की भूमिका को महत्व दिया गया है ।

मुख्य सचिव ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने राज्य में महिलाओं के कल्याण की विभिन्न योजनाओं को प्रारंभ करवाकर उनके सम्मान की पहल की है। महिलाओं और बालिकाओं के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण के लिए विभिन्न स्तरों पर प्रयास किए जा रहे हैं । इन प्रयासों में निरंतरता के लिए सभी को सजग रहने की आवश्यकता है । बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रदेश में बड़े नगरों से लेकर ग्राम स्तर तक महिलाओं और बच्चों के विरूद्ध अपराधों की रोकथाम, संदिग्ध और समाज विरोधी व्यक्तियों की पहचान, पुलिस को आवश्यक सूचनाएं देकर आवश्यक सहयोग करने और महिलाओं का आत्मबल बढ़ाने के लिए संयुक्त  प्रयास किए जाएं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here