माइक्रो-इरीगेशन का क्रियान्वयन अब ऑनलाइन

भोपाल, अगस्त  2015/ राज्य शासन ने माइक्रो-इरीगेशन योजना को पारदर्शी एवं किसान हितैषी बनाने के उद्देश्य से उसका क्रियान्वयन अब ऑनलाइन करवाने की पहल की है। ऑनलाइन के पहले चरण में पंजीकृत किसानों का चयन इलेक्ट्रॉनिक लॉटरी द्वारा एमपी एग्रो ने किया है। उद्यानिकी विभाग द्वारा प्रदेश के लगभग 36 हजार हेक्टेयर क्षेत्र के लिये स्प्रिंकलर एवं ड्रिप यंत्रों का वितरण किया जाना है। इसके लिये 2 लाख से अधिक किसान का पंजीयन किया जा चुका है। पहले चरण में इलेक्ट्रॉनिक लॉटरी द्वारा 19 हजार किसान का चयन किया गया।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव उद्यानिकी प्रवीर कृष्ण, एग्रो के प्रबंध संचालक एस.के. मिश्र और उद्यानिकी के संचालक एम.एस. धाकड़, निर्माता कम्पनी के प्रतिनिधि और कृषक उपस्थित थे। एग्रो ने एनआईसी के सहयोग से ऑनलाइन व्यवस्था की है।

माइक्रो-इरीगेशन योजना में किसानों को अनुदान प्राप्त ड्रिप एवं स्प्रिंकलर दिये जाते हैं। इन यंत्रों की माँग अधिक होने से किसान भी अनुदान का लाभ लेना चाहते हैं। ऑनलाइन योजना होने से किसानों के चयन की प्रक्रिया को कम्प्यूटरीकृत किया गया है। पहले चरण में चयनित किसानों में सभी वर्ग जैसे महिला, अनुसचित जाति/जनजाति, सामान्य एवं लघु-सीमान्त कृषक शामिल हैं। चयनित किसानों की जिलेवार सूची उद्यानिकी विभाग एवं एग्रो की वेबसाइट www.mpstateagro.nic.in पर उपलब्ध करवा दी गई है। यह सूची विभाग के सभी कार्यालयों में भी देखी जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here