मालवीय जी ने धर्म और समाज को जोड़ने का संदेश दिया

भोपाल, दिसम्बर 2015/ राज्यपाल राम नरेश यादव ने कहा है कि भारत रत्न महामना स्वर्गीय पंडित मदनमोहन मालवीय जी ने देश के सभी धर्म और समाज को जोड़ने का संदेश दिया। उन्होंने छुआछूत का भेदभाव मिटाकर सभी वर्ग के बच्चों को शिक्षा देकर राष्ट्रीय धारा में जोड़ने का काम किया। राज्यपाल ने राजभवन में बीएचयू एलूमनी वेलफेयर परिषद, भोपाल द्वारा महामना की 154वीं जयंती पर रखी व्याख्यान माला में यह बात कही। राज्यपाल ने मालवीय जी के चित्र पर माला अर्पित कर व्याख्यान माला का शुभारंभ किया।

राज्यपाल ने कहा कि मालवीय जी का शिक्षा के प्रति विशेष लगाव था। उन्होंने अगर बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की स्थापना नहीं की होती तो उस समय के मेरे जैसे असंख्य युवाओं का शिक्षा ग्रहण करने और उच्च पद प्राप्त करने का सपना साकार नहीं हो पाता। राज्यपाल ने कहा कि स्वर्गीय मालवीय जी पत्रकार,समाज-सुधारक, राजनेता के साथ-साथ प्रख्यात वकील भी थे। मालवीय जी ने अपने बुद्धि-कौशल एवं योग्यता और तर्क के बल पर चोरी-चौरा कांड के 151 लोगों को फाँसी से छुड़ाया था। काशी विश्वविद्यालय उनका अक्षय-कीर्ति स्तंभ है जिसमें उनकी विशाल बुद्धि और संकल्प, देश प्रेम और क्रियाशक्ति तथा तप और त्याग मूर्तिमान है।

मुख्य वक्ता एवं इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के निदेशक एवं पटना विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. शम्भूनाथ सिंह ने कहा कि पंडित मदनमोहन मालवीय का व्यक्तित्व विराट और बहुआयामी था। उनके ओजस्वी भाषण लोगों को बहुत प्रभावित करते थे तथा ब्रिटिश पार्लियामेंट में उन पर चर्चा होती थी। वे भारतीय संस्कृति और सभ्यता की गहरी सोच रखते थे। उनके द्वारा बीएचयू की स्थापना का उद्देश्य भारतीय परम्परा और संस्कृति के साथ-साथ आधुनिक शिक्षा के समन्वय के आधार पर छात्र-छात्राओं को शिक्षा दिलवाना था।

विशिष्ट अतिथि तथा वरिष्ठ राजनैतिक विश्लेषक गिरिजा शंकर ने कहा कि स्वर्गीय मालवीय जी ने समाचार-पत्रों की आजादी की लड़ाई तथा समाज को बदलने के प्रयासों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने लोगों में शिक्षा के प्रति जागरूकता उत्पन्न की। स्वर्गीय मालवीय जी का मानना था कि अच्छे और संस्कारवान छात्र-छात्राओं से ही विकासशील देश और समाज का निर्माण हो सकता है।

आभार प्रदर्शन मध्यप्रदेश माध्यम के ओ.एस.डी. पुष्पेन्द्रपाल सिंह ने किया। संगठन के अध्यक्ष डा. सुभाष सिंह ने स्वागत भाषण दिया। राज्यपाल का मिलेनियम ग्रुप के श्री विनोद यादव ने शाल, श्रीफल भेंट कर सम्मान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here