मिर्जा गालिब आलमी मुशायरा 28-29 दिसम्बर को

भोपाल, दिसम्बर 2015/ प्रख्यात शायर मिर्जा गालिब के जन्म-दिवस पर दो दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय साहित्य संवाद और आलमी मुशायरा 28-29 दिसम्बर को रवीन्द्र भवन में होगा। अमेरिका, जर्मनी, सऊदी अरब और नेपाल के शायर और अदीब शिरकत करेंगे।

पहले दिन 28 दिसम्बर को सुबह 11 बजे शुभारंभ सत्र के मुख्य अतिथि प्रमुख सचिव संस्कृति मनोज श्रीवास्तव होंगे। पूर्व सांसद कैलाश सांरग अध्यक्षता करेंगे। इसी दिन प्रथम सत्र में डॉ. नरेश (चंडीगढ़) ‘गालिब की शायरी में रूहानियत’, डॉ. मुजफ्फर हनफी (दिल्ली) ‘गालिब की शायरी में व्यंगात्मक तत्व’, डॉ. नौमान खान (भोपाल) ‘गालिब और नई नस्ल’, डॉ. मुख्तार शमीम (भोपाल) ‘गालिब की शायरी के विभिन्न आयाम’ एवं डॉ. अजीज इरफान (इंदौर) ‘युसुफ बक़ीमते अव्वल खरीदा हूँ’ पर व्याख्यान देंगे। संचालन डॉ. अजरा नकमी अलीगढ़ करेंगे।

दूसरे सत्र में अपरान्ह में डॉ. अली अहमद फातमी (इलाहाबाद) ‘गालिब का तरक्की पसंद फिक्र ओ शऊर’, डॉ. खादिल मेहमूद (दिल्ली) ‘गालिब की शायरी में ख्याल की नजाकत’, डॉ. जानकी प्रसाद शर्मा (दिल्ली) ‘हिन्दी में गालिब’, डॉ. सैफी सिरोंजी (सिरोंज) ‘गालिब के तख्लीकी रंग’ एवं प्रो. हैदर अव्बास रिजवी (भोपाल) ‘काते बुरहान’ पर व्याख्यान देंगे।

दूसरे दिन 29 दिसम्बर की शाम अमेरिका के श्री फरहत शहजाद, नेपाल के श्री साकिब हारूनी, सऊदी अरब के श्री हनीफ तरीन, जर्मनी के डॉ. आरिफ नकवी सहित राष्ट्रीय स्तर के 16 उर्दू शायर मुशायरा में शिरकत करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here