रेलवे स्टेशन, बस स्टेंड पर बनें “ब्रेस्ट फीडिंग कार्नर”

भोपाल, नवम्बर 2015/ रेलवे स्टेशन, रेल और बस स्टेंड पर बच्चों को स्तनपान करवाने के लिए ‘ब्रेस्ट फीडिंग कार्नर’ स्थापित करने का आग्रह महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभाकर प्रभु से किया है। इस संबंध में ही श्रीमती सिंह की पहल पर मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा ने रेलवे बोर्ड के चेयरमेन श्री ए.के.मित्तल तथा प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास श्री जे.एन.कंसोटिया ने वेस्ट सेंट्रल रेलवे के महाप्रबंधक श्री राकेश चंद्रा एवं प्रमुख सचिव परिवहन को पत्र लिखा है।

महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने रेल मंत्री की लिखे पत्र में बताया कि कुपोषण को समाप्त करने मध्यप्रदेश सरकार विशेष प्रयास कर रही है। नवजात शिशु को कम से कम छ: माह तक माँ का दूध मिले इसके लिए व्यापक पैमाने पर जागरूकता कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। रेलवे स्टेशन और बस स्टेंड पर एक दिक्कत आती है जब माताओं को अपने बच्चे को स्तनपान के लिए सुविधाजनक स्थान नहीं मिलता। इससे बच्चे लंबे समय तक माँ के दूध से वंचित रहते हैं। श्रीमती माया सिंह ने रेल मंत्री से आग्रह किया कि रेलवे स्टेशन और ट्रेन में ‘ब्रेस्ट फीडिंग कार्नर’ स्थापित किये जायें ताकि बच्चों को समय पर और सुविधाजनक वातावरण में माँ का दूध मिल सके।

प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास श्री जे.एन.केसोटिया ने प्रमुख सचिव परिवहन को बस स्टेंडों में भी ‘ब्रेस्ट फीडिंग कार्नर’ स्थापित करने के संबंध में पत्र लिखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here