रेल की बोगियों पर सवार सिंहस्थ का प्रचार

simhastha

भारतीय अध्यात्म एवं संस्कृति का अदभुत संगम सिंहस्थ कुंभ महापर्व इस वर्ष 22 अप्रैल से 21 मई तक उज्जैन में होगा। सिंहस्थ 2016 का संदेश पूरे देश में पहुँचाने के लिए पहली बार मध्यप्रदेश सरकार ने भारतीय रेल के साथ ‍िमलकर अनूठा प्रचार अभियान चलाया है। इस अभियान से अब रेल के डिब्बे के जरिये सिंहस्थ की महिमा एवं उसमें आने का मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का आमंत्रण संदेश पूरे देश में पहुँच रहा हैं।

राज्य सरकार द्वारा कुशीनगर एक्सप्रेस के रेल डिब्बों को विशेष रूप से तैयार करवाया गया है। यह गाड़ी सिंहस्थ कुंभ महापर्व के आमंत्रण के संवाहक के रूप में इसका प्रचार-प्रसार कर रही है। मुंबई के लोकमान्य स्टेशन से 18 फरवरी को प्रारंभ होकर यह ट्रेन बुरहानपुर, खंडवा, हरदा, इटारसी, होशंगाबाद, हबीबगंज भोपाल होते हुए विदिशा रेल्वे स्टेशन पर पहुँची। पूरी यात्रा में वह शताधिक छोटे-बड़े रेलवे स्टेशन पर रूकी। इन सभी स्टापेज पर मौजूद यात्री ट्रेन की बोगियों को एकटक देखते रहे। बोगियों पर सिंहस्थ की महिमा के साथ उसमें आने का आमंत्रण आकर्षक रूप से अंकित-प्रदर्शित है। न केवल स्टापेज पर बल्कि चलती ट्रेन को भी जो लोग देख रहे थे, उनकी निगाहों में भी, ट्रेन की बोगियों पर प्रदर्शित सिंहस्थ की महिमा और मुख्यमंत्री का आमंत्रण, आने से नहीं बचा। इस दौरान इलेक्ट्रॉनिक और प्रिन्ट मीडिया द्वारा भी कव्हरेज किया गया। लगभग सभी स्टापेज और स्टेशन पर मौजूद यात्रियों ने प्रचार-प्रसार के इस अनूठे प्रयास पर अपने अनुभव साझा किये।

 

जनसम्पर्क विभाग के उपक्रम मध्यप्रदेश माध्यम की ओर से मुख्यमंत्री का संदेश पूरे देश में पहुँचाने के लिए कुशीनगर के अलावा और चार ट्रेन जिसमें जबलपुर से राजकोट जाने वाली वीरावल एक्सप्रेस, मुम्बई से दरभंगा बिहार जाने वाली पवन एक्सप्रेस, भुवनेश्वर ओडीसा से मुम्बई की ओर जाने वाली कोणार्क एक्सप्रेस एवं पंजाब मेल का चयन किया गया है। यह ट्रेने सिंहस्थ – 2016 के संदेश कुशीनगर ट्रेन की तरह ही पूरे देश में लेकर जाएगी। यह अभियान सिंहस्थ तक जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here