लघु उद्यमी सम्मेलन में 1201 करोड़ के 84 एमओयू

भोपाल, मार्च 2013/ भोपाल नर्मदापुरम् संभाग के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमियों के सम्मेलन में आज 120 करोड़ 37 लाख रुपये की औद्योगिक परियोजनाओं के लिये 84 करारनामों पर हस्ताक्षर किये गये। इनसे लगभग 6,500 लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके अलावा 106 उद्यमी ने निवेश के लिये रुचि प्रदर्शित की। इनमें 577 करोड़ 81 लाख रुपये का पूँजी निवेश प्रस्तावित है और लगभग साढ़े 11 हजार लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है।

लघु उद्यमियों तथा विदेशी खरीदारों के बीच परस्पर संवाद की सुविधा भी उपलब्ध करवाई गई है। तीन सफल लघु उद्यमियों को अपने अनुभव बाँटने के लिये बुलाया गया। उन्होंने बताया कि उन्होंने किस प्रकार बहुत छोटे स्तर पर अपना उद्यम शुरू कर उसका विस्तार किया।

सम्मेलन में सबसे ज्यादा 34 एमओयू इंजीनियरिंग के क्षेत्र में किये गये। इनमें 143 करोड़ 10 लाख रुपये का निवेश होगा और 1400 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में 22 एमओयू हुए, जिनमें लगभग 405 करोड़ रुपये का निवेश होगा और 2200 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। प्लास्टिक एण्ड केमिकल के क्षेत्र में 14 एमओयू हुए। इनमें 35 करोड़ से अधिक का निवेश होगा और 250 से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। इनके अलावा टेक्सटाइल के क्षेत्र में एक, स्वास्थ्य के क्षेत्र में 2, फार्मास्युटिकल में 4, खनिज में 2, वेयर-हाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स में 3 और हर्बल के क्षेत्र में 2 एमओयू हुए।

एक्सपोर्टेक में जिन देशों के खरीदार आ रहे हैं उनमें अफगानिस्तान, आस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, बुलगारिया, बुरकिना फासो (पश्चिम अफ्रीका) डीआर कांगो, घाना, मलेशिया, नेपाल, नाइजीरिया, रिपब्लिक ऑफ केमरून, दक्षिण कोरिया, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तन्जानिया, यूएई, यूगांडा, नीदरलेण्ड, स्पेन, जर्मनी, थाइलेण्ड, अमेरिका, यूके, ब्राजील, मेक्सिको, इज्राइल और सेनेगल शामिल है।

विदेशी मेहमान

एक्सपोर्टेक में अनेक देश के राजदूत/ उच्चायुक्त आ रहे हैं। इनमें अफगानिस्तान, अल्जीरिया, अर्जेन्टीना, बेनिन, बोसनिया एण्ड हर्जेगोविना, ब्राजील, बरकिना फासो, कांगो, एरीट्र्रिया, गेबन, लीसोथो, नामीबिया, नाईजर, सिचेलिस, स्लोवॉकिया, दक्षिण अफ्रीका, तजाकिस्तान, टोगो, ट्यूनीशिया, युगांडा और येमन शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here