लापरवाही के आरोप में चार स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारी निलंबित

भोपाल, सितंबर 2013/ नागरिकों के उपचार के लिए सभी श्रेणी के अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में पदस्थ चिकित्सकों और कर्मचारियों को विस्तृत निर्देश दिए गए हैं। स्पष्ट हिदायतों के बावजूद कर्त्तव्य पालन में लापरवाही बरतने पर राज्य में स्वास्थ्य विभाग के चार कर्मचारी निलंबित किए गए हैं।

दमोह जिले में पदस्थ तीन कर्मचारी निलंबित किए गए हैं। ये कर्मचारी हैं- पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता डी.पी. सोनी, सेक्टर सुपरवाईजर लीलाधर और मंजूलाल अहिरवार।

इसी प्रकार बड़वानी जिला अस्पताल में ड्यूटी के दौरान लापरवाही बरतने पर वार्डब्वाय कैलाश भाटिया को भी तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। निलंबन काल में कैलाश भाटिया का मुख्यालय सिविल अस्पताल सेंधवा नियत किया गया है। पन्ना जिले में उप स्वास्थ्य केन्द्र ग्राम करिया में पदस्थ महिला स्वास्थ्य कार्यकर्त्ता श्रीमती सायरा सिद्दीकी को लम्बे समय से बिना किसी अवकाश सूचना के अपने कार्य से अनुपस्थित रहने पर सेवा समाप्ति का नोटिस दिया गया है। सात दिवस के अंदर कार्य पर उपस्थित नहीं होने पर उनकी सेवा समाप्ति की कार्यवाही की जाएगी।

मुरैना जिले में ब्लाक एवं जिला मुख्यालय पर बीमारी फैलने की सूचना नहीं देने पर एक ए.एन.एम. और एक आशा कार्यकर्त्ता की दो-दो वेतन वृद्धि रोकते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किये गए हैं। इनमें ग्राम बैधपुरा की आशा कार्यकर्त्ता श्रीमती बसंती मल्हा और चिन्नोनी चंबल की ए.एन.एम. में श्रीमती कृष्णा जाटव शामिल हैं। ग्राम बैधपुरा में एक माह में बीमारी फैलने के कारण चार बच्चों की मृत्यु हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here