लोकतंत्र के लिए पूरा मतदान जरूरी

भोपाल, जनवरी 2015/ राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर लोकसभा निर्वाचन में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों को मुख्य सचिव अन्टोनी डिसा द्वारा राज्य स्तरीय समारोह में पुरस्कृत किया गया। समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी, सांसद आलोक संजर, पूर्व राज्य निर्वाचन आयुक्त जी.एस. शुक्ला, संभागायुक्त एस.बी. सिंह, संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एस.एस. बंसल भी उपस्थित थे।

मुख्य सचिव ने लोकसभा निर्वाचन के मतदान में वृद्धि, चुनाव संचालन, आदर्श आचरण संहिता का पालन करवाने में सफल रहे बुरहानपुर के तत्कालीन कलेक्टर श्री आशुतोष अवस्थी, नीमच के तत्कालीन कलेक्टर श्री विकास नरवाल, मंदसौर के तत्कालीन कलेक्टर श्री शशांक मिश्रा, सीहोर के तत्कालीन कलेक्टर श्री कवीन्द्र कियावत, भोपाल कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े, सिवनी कलेक्टर श्री भरत यादव, शहडोल कलेक्टर श्री अशोक कुमार भार्गव और सीधी की तत्कालीन कलेक्टर श्रीमती स्वाति मीना को 25-25 हजार की राशि एवं प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया। श्री डिसा ने चुनाव में उत्कृष्ट कार्य करने वाले जनसम्पर्क विभाग के उप संचालक एवं नोडल ऑफिसर श्री प्रलय श्रीवास्तव, उच्च शिक्षा (रासेयो) के श्री आर.के. विजय, महिला-बाल विकास के श्री आर.सी. शुक्ला, नेहरू युवा केन्द्र के श्री अरुण सरावगी, डीआरएम रेलवे भोपाल श्री राजीव चौधरी, उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री एस.एस. रावत और अनुभाग अधिकारी श्री आर.एन. सिंह को भी 10-10 हजार की राशि और प्रशस्ति-पत्र भेंट किया। उन्होंने पार्टनर विभागों के नोडल एवं जिला स्वीप अधिकारी श्री के.जी. गोयल संयुक्त निदेशक आयकर, हरदा की डीईओ श्रीमती भावना दुबे तथा देवास के प्राध्यापक डॉ. अजय काले को भी पुरस्कृत किया। मुख्य सचिव ने भोपाल के निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी श्री इच्छित गढ़पाले और श्री संदीप केरकेट्टा सहित तीन अन्य अधिकारी तथा चुनाव के दौरान तैनात रहे उप निर्वाचन अधिकारी सर्वश्री शरद श्रोत्रिय (इंदौर), अनुराग सक्सेना ग्वालियर, जगदीश जटिया दमोह, पी.सी. शर्मा (सीईओ) भोपाल, प्रदीप जैन (डिप्टी सीईओ) को भी पुरस्कृत किया।

निर्वाचन संचालन में मुख्य भूमिका निभाने वाले सीईओ कार्यालय के सर्वश्री अमित श्रीवास्तव, इस्माइल सैफी, कैलाश रघुवंशी, श्रीमती अनिता तिवारी और श्री देवीलाल पाटिल को सम्मानित किया गया। इस मौके पर 3-3 जिला निर्वाचन पर्यवेक्षक और आँगनवाड़ी कार्यकर्ता तथा 15 बीएलओ सहित वाद-विवाद, निबंध, स्लोगन, चित्रकला प्रतियोगिता में विजयी स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों को भी पुरस्कृत किया गया।

श्री अन्टोनी डिसा ने कहा कि निर्वाचन के दौरान मतदाता अपने मताधिकार का निर्भीक होकर उपयोग करें। शत-प्रतिशत मतदान से ही लोकतंत्र को मजबूती दी जा सकती है। मतदान में भागीदारी के लिये उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि वोटर-लिस्ट में उनका नाम शामिल हो। मतदान को मतदाताओं का संवैधानिक अधिकार बताते हुए मुख्य सचिव ने कहा कि लोकतंत्र की मजबूती और राष्ट्र के विकास के लिये मतदान में मतदाताओं की अधिकाधिक भागीदारी हो। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में पिछले एक-डेढ़ वर्ष से लगातार शांतिपूर्ण चुनाव हो रहे हैं। पिछले विधानसभा और लोकसभा निर्वाचन में मतदान के प्रतिशत में भी अभूतपूर्व वृद्धि हुई है, परिणामत: मध्यप्रदेश को इस साल भी राष्ट्रीय-स्तर पर बेस्ट स्टेट अवार्ड प्राप्त हुआ है। मुख्य सचिव ने कार्यक्रम में मौजूद नागरिकों को मतदाता दिवस की शपथ भी दिलवाई।

श्री एस.बी. सिंह ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को निर्वाचन में भाग लेकर लोकतंत्र को मजबूत बनाना होगा। उन्होंने कहा कि पिछले चुनावों में युवाओं ने भरपूर उत्साह दिखाया। श्री एस.एस. बंसल ने बताया कि मतदाता दिवस प्रदेश के 62 हजार 690 मतदान केन्द्र पर मनाया जा रहा है। इस साल 14 लाख 86 हजार नये मतदाता के नाम जोड़े गये हैं। मतदाताओं की संख्या बढ़कर अब 4 करोड़ 89 लाख हो गई है। फोटोयुक्त निर्वाचक नामावली में सौ फीसदी मतदाताओं के फोटो हैं। कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े ने राज्यपाल श्री रामनरेश यादव के संदेश को पढ़कर सुनाया। राज्यपाल ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जयदीप गोविंद और संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री एस.एस. बंसल श्रीलंका के हाल के निर्वाचन में अंतर्राष्ट्रीय प्रेक्षक बनकर गये थे।

मुख्य सचिव ने ‘मतदाता जागरूकता’ प्रदर्शनी का उदघाटन किया। प्रदर्शनी सुभाष उत्कृष्ट विद्यालय, शिवाजी नगर में 26-27 जनवरी को भी लगी रहेगी। उन्होंने पहली बार मतदाता बने 6 विद्यार्थी को मतदाता परिचय-पत्र सौंपे। संभागायुक्त ने राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री आर. परशुराम के संदेश का वाचन किया। स्वीप के राज्य-स्तरीय नोडल अधिकारी श्री संजय सिंह बघेल ने आभार माना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here