वृद्धावस्था एक अवस्था बीमारी नहीं

भोपाल, नवम्बर 2015/ राज्य वरिष्ठ नागरिक कल्याण आयोग के अध्यक्ष श्री व्ही.जी. धर्माधिकारी ने वयोश्रेष्ठ सम्मान से विभूषित देवास के डॉ. मनोहर विश्वनाथ भाले और सीईओ जिला पंचायत डिण्डोरी श्री कर्मवीर शर्मा को शॉल-श्रीफल, स्मृति-चिन्ह और प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया। राष्ट्रपति द्वारा वृद्धजन दिवस पर इन्हें वयोश्रेष्ठ सम्मान से विभूषित किया गया था। श्री धर्माधिकारी ने कहा कि वृद्धावस्था एक अवस्था है, बीमारी नहीं। इस अवस्था से सबको गुजरना पड़ता है।

श्री धर्माधिकारी ने कहा कि वृद्धावस्था की समस्या सामाजिक एवं पारिवारिक है, कानूनी नहीं। इसके समाधान के लिये सामाजिक संगठन, परिवार, समाज और सरकार मिलकर प्रयास करे। आयुक्त सामाजिक न्याय डॉ. मनोहर अगनानी ने कहा कि लैंगिक समानता का भाव अपने घर से शुरू करें।

श्री भाले ने बताया कि देवास अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीज के परिजन को 5 रुपये में भोजन दिया जाता है। उन्होंने कहा कि वृद्धजन के लिये लागू नीतियों का क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाये। श्री कर्मवीर शर्मा ने कहा कि मैंने तो सिर्फ अपने कर्त्तव्यों का निर्वहन किया, लेकिन राष्ट्रीय-स्तर पर पहचान मिलने पर उन्हें और बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिली है। उन्होंने सामाजिक सुरक्षा पेंशन का वितरण बैंक के माध्यम से करवाकर समय-सीमा में पेंशन का भुगतान सुनिश्चित करवाया। इस दौरान आयोग के सदस्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here