व्यापमं कांड से जुड़े व्यक्तियों की मौत की जाँच जल्‍द हो

भोपाल, जुलाई 2015/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) के अध्यक्ष को पत्र लिखकर व्यावसायिक परीक्षा मंडल से संबंधित आपराधिक प्रकरणों से जुड़े व्यक्तियों की मृत्यु की जाँच एसआईटी द्वारा यथाशीघ्र पूर्ण करने का आग्रह किया है। श्री चौहान ने पत्र में कहा कि इससे अन्वेषण की पारदर्शिता एवं निष्पक्षता और सुदृढ़ होगी। साथ ही जन-सामान्य में किसी भी प्रकार का भ्रम नहीं रहेगा।

श्री चौहान ने पत्र में दिनांक 04.07.2015 को व्यापम से संबंधित कतिपय जानकारियाँ एकत्रित करने के लिये झाबुआ गए ‘आज तक’ न्यूज चेनल के संवाददाता अक्षय सिंह के दु:खद निधन और उनकी मृत्यु की निष्पक्ष जाँच करने का निवेदन भी एसआईटी से किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री सिंह की मृत्यु के कारणों एवं परिस्थितियों की विस्तृत जाँच करे ताकि तथ्यात्मक स्थिति सामने आ सके।

पत्र में कहा कि व्यावसायिक परीक्षा मंडल द्वारा आयोजित परीक्षाओं में हुई गड़बड़ियों के संबंध में दर्ज आपराधिक प्रकरण का अन्वेषण एसआईटी के पर्यवेक्षण में निरंतर जारी है। समाचार-पत्रों में इन प्रकरण से संबंधित कतिपय व्यक्तियों की मृत्यु की जानकारियाँ प्रकाशित हुई हैं। इसके आधार पर मीडिया के माध्यम से भ्रामक स्थिति पैदा करने के राजनैतिक प्रयास भी किये जा रहे हैं। उन्होंने एसआईटी के अध्यक्ष का ध्यान नंदकुमार सिंह चौहान एवं नरोत्तम मिश्रा द्वारा एसआईटी को पहले लिखे गये पत्र की ओर भी आकर्षित किया है। कहा कि उच्च न्यायालय ने उक्त उल्लेखित मौतों से संबंधित तथ्य का संज्ञान लिया है तथा एसआईटी से इनसे संबंधित समस्त जानकारियों एवं साक्ष्य की जाँच पड़ताल करने की अपेक्षा भी की है।

श्री चौहान ने अपने पत्र में उल्लेख किया है कि माननीय उच्च न्यायालय द्वारा अनुश्रवित तथा एसआईटी के द्वारा पर्यवेक्षित व्यापम संबंधित प्रकरणों से जुड़े किसी भी मुद्दे अथवा घटना की निष्पक्ष जाँच एसआईटी द्वारा ही की जा सकती है क्योंकि ऐसी जाँच न्यायिक व्यवस्था का ही हिस्सा है। इसलिये उसकी निष्पक्षता एवं पारदर्शिता पर हर नागरिक को विश्वास होगा। उन्होंने समग्र, परिस्थितियों एवं तथ्यों के प्रकाश में उपरोक्त उल्लेखित बिन्दुओं पर समुचित जाँच शीघ्र पूर्ण करने का आग्रह किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here