सतना को स्मार्ट-सिटी बनाने 1194 करोड़ खर्च होंगे

भोपाल, दिसम्बर 2015/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विंध्य क्षेत्र विकास की राह पर चल पड़ा है। वर्ष 2003 की वर्ष 2013 से तुलना करने पर इस क्षेत्र के विकास में जमीन-आसमान का अंतर स्पष्ट समझ आता है। प्रदेश के सतना सहित 7 शहर को स्मार्ट-सिटी बनाने का शासन ने निर्णय लिया है। सतना शहर को स्मार्ट-सिटी बनाने पर लगभग 1194 करोड़ की राशि के विकास कार्य किये जायेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज सतना में आठवें 11 दिवसीय विंध्य व्यापार मेले का समापन कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सतना के गौरवशाली इतिहास को ध्यान में रखकर उसका विकास किया जायेगा। जनवरी, 2016 में भोपाल में बैठक कर सतना शहर के विकास की रूपरेखा तय की जायेगी। सतना शहर में जल-वितरण व्यवस्था पर 40 करोड़, सीवेज सिस्टम विकसित करने 148 करोड़ एवं पुरानी नालियों के सुधार पर 20 करोड़ की राशि व्यय की जायेगी।

श्री चौहान ने कहा कि महानगरों की भाँति जनता की सुविधा के लिये सतना शहर में भी अब लो-फ्लोर बसें चलायी जायेंगी। इसके लिये 12 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। सतना शहर के पार्कों में से एक पार्क को मॉडल पार्क के रूप में विकसित किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने सतना शहर में स्मार्ट-सिटी के विकास के लिये सोनोरा चेक उतैली में आरक्षित 375 एकड़ भूमि का स्थल-निरीक्षण किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here