सबसे बेहतर व्‍यवस्‍थाओं वाला होगा 2016 का सिंहस्थ

Simhastha Logo

भोपाल, फरवरी 2016/ व्यवस्थाओं की दृष्टि से सिंहस्थ कुंभ महापर्व-2016 सबसे बेहतर होगा। उज्जैन के प्रभारी एवं परिवहन मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह रविवार को उज्जैन में सिंहस्थ 2016 की तैयारियों का अवलोकन कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सिंहस्थ के लिए राज्य शासन व्यापक तैयारी कर रहा है। उज्जैन शहर को भी सिंहस्थ 2016 में कई स्थायी सौगातें मिली हैं।

प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सफल और सुरक्षित सिंहस्थ के लिये धन की कोई कमी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं सिंहस्थ 2016 की तैयारियों की मॉनीटरिंग कर रहे हैं। सिंहस्थ में सुरक्षा की दृष्टि से आधुनिक तकनीक का बेहतर उपयोग किया जाएगा।

इस बार सिंहस्थ 2016 में 3092 करोड़ लागत के निर्माण कार्य करवाये जा रहे हैं। सिंहस्थ-2004 में 262 करोड़ रूपये का व्यय किया गया था।

प्रमुख कार्य

362 करोड़ रूपये से सड़कों का निर्माण।

उज्जैन शहर में 14 नये पुल।

63 करोड़ रूपये की लागत से पंचक्रोशी मार्ग का उन्नयन।

94 करोड़ से ज्यादा की लागत से 14.29 किलोमीटर लम्बे उज्जैन-पश्चिम बायपास का निर्माण।

एम.पी.आर.डी.सी. द्वारा 71 करोड़ से ज्यादा की लागत से 36.49 किमी लम्बे उज्जैन-मक्सी मार्ग का निर्माण।

हरिफाटक ब्रिज की चौथी भुजा का निर्माण। एक भुजा को चौड़ा करना।

9 किलोमीटर पाइप लाइन के जरिए खान नदी डायवर्शन का कार्य।

7.75 मिलियन गैलन (एमजीडी) के दो जल-शोधन संयंत्र स्थापित।

महाकाल मंदिर में नंदी हॉल का विस्तार।

श्री महाकालेश्वर धर्मशाला के विस्तार के साथ ही प्रमुख मंदिरों को सुंदर बनाने का काम।

सिंहस्थ के दौरान आपदा प्रबंधन के इंतजाम।

जन-सुविधाएँ

हेल्प सेंटर – सिंहस्थ मेला क्षेत्र में 106 हेल्प सेंटर। हेल्प सेंटर से श्रद्धालु सिंहस्थ के सम्बन्ध में कोई भी सूचना प्राप्त कर सकते हैं। पानी, बिजली, दूध आदि की आपूर्ति से संबंधित शिकायतें भी दर्ज की जा सकेगी और उनका निराकरण भी किया जायेगा।

काल सेन्टर – सिंहस्थ की जानकारी के लिए कॉल सेन्टर शुरू हो चुका है। सिंहस्थ तक कॉल सेन्टर की 25 लाईन एक साथ कार्य करेगी। इसका नम्बर 1100 है, जो किसी भी लेंड लाईन या मोबाईल से लगाया जा सकता है।

खोया-पाया केन्द्र – सिंहस्थ में 51 खोया-पाया केन्द्र स्थापित किये जायेंगे। यह केन्द्र गुमशुदगी की स्थिति में मदद करेंगे।

मेडिकल सुविधा – सिंहस्थ मेला क्षेत्र में सुसज्जित चिकित्सालयों की नि:शुल्क व्यवस्था रहेंगी। पूरे क्षेत्र में छ: अस्पताल 20-20 बिस्तर के एवं 23 अस्पताल 6-6 बिस्तर के स्थापित किए जायेंगे। सिंहस्थ क्षेत्र में 5 मोबाईल स्वास्थ्य इकाइयाँ भी काम करेंगी। हर घाट पर दो-दो व्यक्ति का 1-1 दल भी तैनात रहेगा। सिंहस्थ क्षेत्र में चिन्हा्किंत स्थानों पर एम्‍बुलेन्स भी रहेगी। इनमें कार्डियेक एंबुलेन्स भी सम्मिलित है।

शीतल जल के लिये प्याऊ –मेला क्षेत्र में श्रद्धालुओं के लिए शुद्ध एवं शीतल जल की व्यवस्था रहेगी। पूरे मेला क्षेत्र में 1000 प्याऊ लगाये जायेंगे। प्याऊ यूवी सुविधा के होंगें यानी इनके द्वारा रोगाणु रहित जल उपलब्ध करवाया जायेगा।

ट्रान्सपोर्ट – उज्जैन आने वाले सिंहस्थ श्रद्धालुओं एवं यात्रियों के लिए मॉस ट्रान्सपोर्ट व्यवस्था के लिए 1050 टाटा मेजिक और 377 सिटी बस रहेगी। इनके लिए 28 मार्ग चिन्हांकित किए गए हैं। इनमें 21 मार्ग टाटा मैजिक के लिए और 7 मार्ग सिटी बसों के लिए रहेंगे। जिन स्थानों पर जाकर मैजिक और बसें रूक जायेंगी, उस स्थान से आगे जाने के लिए ई-रिक्शा की व्यवस्था भी रहेगी।

बैकिंग सुविधाएँ – सिंहस्थ के दौरान बैंकों द्वारा लेन-देन व अन्य सुविधाएँ उपलब्ध करवायी जायेंगी। बैंक विशेष सिंहस्थ कार्ड जारी करेंगे। यात्री इस व्यवस्था के जरिये केश लेस होकर सिंहस्थ क्षेत्र में घूम सकेंगे। कार्ड से यात्री दुकानों से सामान क्रय कर सकेंगे। मेला क्षेत्र में एटीएम सुविधा उपलब्ध रहेगी। पूरे मेला क्षेत्र में लगभग 50 एटीएम लगाने की योजना है। बैंक यात्रियों को विदेशी मुद्रा विनिमय सुविधा उपलब्ध करवायेंगी। एक अन्य महत्वपूर्ण सुविधा क्वाईन डिस्पेन्सर की होगी। जहाँ कोई भी व्यक्ति चिल्लर प्राप्त कर सकेगा।

स्वाइप मशीन –मेला क्षेत्र में कार्ड के द्वारा भुगतान के लिए स्वाइप मशीनों की व्यवस्था की जायेंगी। पाँच से लेकर 10 हजार मशीनें विभिन्न दुकान और अन्य स्थान पर होगी। व्यक्ति अपनी खरीदी का भुगतान एटीएम या कार्ड से कर सकेगा।

सिंहस्थ मोबाईल एप – सिंहस्थ के दौरान यात्रियों के लिए मोबाईल एप सुविधा का कार्य करेगा। एप पर सम्पूर्ण मेला क्षेत्र की प्रतिदिन, प्रति सप्ताह और पूरे माह की गतिविधियाँ दर्शायी जायेंगी। इससे श्रद्धालु अपने मनचाहे स्थान पर जाकर प्रवचनों व अन्य धार्मिक गतिविधियों में शामिल हो सकेगा।

वेबसाईट – सिंहस्थ के लिए तैयार की गई वेबसाइट www.simhasthaujjain.in किसी भी व्यक्ति के लिए सिंहस्थ संबंधी जानकारी प्राप्त करने का अच्छा जरिया है। वेबसाइट पर शासकीय विभागों द्वारा सिंहस्थ में किए जा रहे कार्य, अमले की तैनाती और जोन सेक्टर से लेकर तमाम जानकारियाँ उपलब्ध हैं। वेबसाइट निरंतर अपडेट की जाती है।

मोबाईल चार्जिंग पाइन्ट – सिंहस्थ क्षेत्र में मोबाईल चार्जिंग के लिए निश्चित दूरी पर पाइंट बनाये जायेंगे।

वाईफाई सुविधा –विभिन्न मोबाईल नेटवर्क प्रदाता कंपनियों द्वारा वाईफाई की सुविधा सिंहस्थ क्षेत्र में उपलब्ध करवायी जायेंगी। इसके लिए लगभग 150 हाट स्पाट रहेंगे। वाईफाई द्वारा 3जी एवं 4जी दोनों प्रकार की सुविधा मुहैया करवायी जायेंगी। रिलायंस कंपनी द्वारा सिंहस्थ क्षेत्र में 40 स्थान पर नि:शुल्क वाईफाई सुविधा देने का प्रस्ताव दिया गया है।

साँची पार्लर –श्रद्धालुओं एवं यात्रियों को शुद्ध दूध एवं दुग्ध उत्पाद उपलब्ध करवाने की व्यवस्था की जायेगी। पूरे क्षेत्र में साँची के 106 पार्लर स्थापित किए जायेंगे। इसके साथ ही 4 मोबाईल यूनिट भी घूम-घूम कर दूध एवं दुग्ध उत्पाद उपलब्ध करवायेगी। साँची पार्लरों से दूध के अलावा दही, घी, मावा, मक्खन, छाछ, मठ्ठा, पनीर एवं पेड़ा विक्रय किए जायेंगे।

गाईड – सिंहस्थ मेला क्षेत्र में यात्री को जानकारी देने के लिए स्थान – स्थान पर गाईड भी रहेंगे। एनएसएस, स्काउट के विद्यार्थियों को इसके लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। इनके साथ ही अशासकीय संस्थाओं के कार्यकर्ता भी श्रद्धालुओं के लिए गाइड का कार्य करेंगे।

रेलवे पूछताछ केन्द्र –रेलवे प्रशासन महाकाल झोन, दत्त अखाड़ा, मगंलनाथ क्षेत्र में एक-एक पूछताछ केन्द्र बनायेगा।

बीमा – सिंहस्थ क्षेत्र में आने वाला व्यक्ति स्वत: दो लाख रूपये के दुर्घटना बीमा से बीमित हो जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here