सशक्त नेतृत्व से ग्रामीण अँचलों की बदलें तस्वीर

भोपाल, दिसम्बर 2015/ अपर मुख्य सचिव, पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्रीमती अरूणा शर्मा ने जिला पंचायत अध्यक्षों से कहा कि वे सशक्त और प्रभावी नेतृत्व से ग्रामीण अँचलों की तस्वीर बदलें। श्रीमती शर्मा आज आरसीव्हीपी नरोन्हा प्रशासन अकादमी में जिला पंचायत अध्यक्षों के पाँच दिवसीय क्षमतावर्धन प्रशिक्षण के समापन पर बोल रही थीं। महात्मा गाँधी राज्य ग्रामीण विकास संस्थान के प्रशिक्षण के प्रथम चरण में 19 जिला पंचायत अध्यक्ष ने भागीदारी की। इनमें अधिकांश महिला जिला पंचायत अध्यक्ष थीं। श्रीमती शर्मा ने सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र भी दिये।

अपर मुख्य सचिव श्रीमती शर्मा ने कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष अपने-अपने कार्य क्षेत्र में हितग्राही मूलक योजनाओं और अधोसंरचना विकास के कार्यो को बेहतर रूप से संपन्न करवाने के लिये सक्रिय भूमिका निभायें। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के उपलब्ध संसाधनों की मदद और ग्रामीण विकास विभाग द्वारा मुहैया करवाई जाने वाली राशि से ग्रामीण अंचलों में पेयजल व्यवस्था तथा नल-जल योजना का सुचारू क्रियान्वयन सुनिश्चित करवायें। जरूरतमंद गरीबों के लिये पंचायत कलस्टर स्तर पर रोजगार के साधन सुलभ करवाने के प्रयास हों। उन्होंने बताया कि जिला पंचायत की सामान्य प्रशासन समिति में ग्रामीण अंचलों के विकास से जुडे सभी महत्वपूर्ण निर्णय लिये जा सकते है। इस मकसद से जिला पंचायतों को और अधिकार संपन्न बनाने की दिशा में राज्य शासन द्वारा आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। श्रीमती अरूणा शर्मा ने जिला पंचायत अध्यक्षों की जिज्ञासाओं का समाधान भी किया।

प्रशिक्षण में जिला पंचायत अध्यक्षों को पंचायतराज व्यवस्था की अवधारणा, सत्ता के विकेन्द्रीकरण और सुशासन तथा 73वें संविधान संशोधन के संबध में महत्वपूर्ण तथ्यों से अवगत करवाया गया। पंचायत राज अधिनियम के मुख्य प्रावधान, जिला पंचायत अध्यक्षों की शक्तियाँ और अधिकार तथा कर्त्तव्य, जिला पंचायत की स्थाई समितियों में होने वाली कार्यवाही, विकास की अवधारणा और विकेन्द्रीकृत नियोजन, जिला पंचायत निधि तथा लेखा और अंकेक्षण की प्रक्रिया विस्तार से बताई गई। प्रशिक्षण के विभिन्न सत्रों में ग्रामीण विकास तथा सामाजिक न्याय विभाग सहित विभिन्न विभाग की महत्वपूर्ण योजनाओं के बारे में भी बताया गया। प्रशिक्षण के समापन पर संयुक्त संचालक पंचायतराज श्रीमती शिवानी वर्मा और श्री आई.एस. ठाकुर सहित प्रशासन अकादमी के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here