सिंहस्थ में लेंगे सभी का सहयोग: शिवराज

भोपाल, फरवरी 2015/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में जन-सहयोग से चल रहे रुद्र सागर को सुंदर और साफ बनाने के अभियान में श्रमदान कर आमजन की हौसला अफजाई की।

इस काम में शासन के साथ जन-भागीदारी पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए श्री चौहान ने कहा कि वे जब पिछली बार यहाँ आये थे, तब रुद्र सागर के स्वरूप को देखकर बहुत दु:खी हुए थे। उन्हें प्रसन्नता है कि उनके आने तक यहाँ के लोगों ने आधा काम जन-भागीदारी से पूरा कर दिया है। हमें महाकाल के आँगन को और रुद्र सागर को सुंदर बनाकर मिसाल कायम करना है। हम उज्जैन को दुनिया का अनूठा नगर बनायेंगे। उज्जैन में महाराजा विक्रमादित्य की प्रतिमा लगाई जाएगी।श्री चौहान ने श्रमदान कर रहे सामाजिक संगठनों के साथ स्वयं 30 मिनट तक तालाब से मिट्टी निकाल कर ट्रकों में डलवाई और एक-एक संगठन के पास जाकर उत्साह बढ़ाया।

विगत 18 जनवरी से रुद्र सागर को सुंदर और गहरा करने का काम चल रहा है। अब तक 10 हजार लोग श्रमदान कर चुके हैं। आठ हजार लोग रुद्र सागर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने का संकल्प ले चुके हैं। अब तक 1200 डम्पर एवं 1400 ट्राली मलबा तालाब से निकालकर रुद्र सागर को एक मीटर गहरा किया जा चुका है। जनता एवं संगठनों ने लगभग 7 लाख रुपये का जन-सहयोग भी दिया है। प्रशासन के 40 विभाग और 300 स्वयंसेवी संगठन श्रमदान से जुड़े हुए हैं।

रामघाट सहित अन्य क्षेत्रों का भ्रमण

मुख्‍यमंत्री ने श्री महाकालेश्वर मंदिर में दर्शन के बाद रामघाट स्थित श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन में महंत रघु मुनि महाराज से भेंट कर उदासीनाचार्य श्रीचन्द्र मंदिर में पूजा की। मुख्यमंत्री ने रामघाट का जायजा लिया तथा गुरु दत्तात्रय अखाड़े के महंत पीर महंत परमानन्द पुरी महाराज से भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त किया। महंतों ने मुख्यमंत्री का साफा बाँधकर सम्मान कर उन्हें सिंहस्थ बेहतर ढंग से मनाने का आशीर्वाद दिया। मुख्यमंत्री ने दत्त अखाड़े में अष्टकौशल महंत सुंदर पुरी की समाधि पर मत्था टेका। श्री चौहान ने चारधार मंदिर में दर्शन कर शांतिस्वरूपानंद गिरि महाराज से भेंट की तथा आशीर्वाद लिया।

प्रतिनिधि-मण्डलों से मुलाकात

मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधि-मण्डलों से मुलाकात के दौरान कहा कि सिंहस्थ-2016 का आयोजन सभी के सहयोग से किया जायेगा। सिंहस्थ में सेवाएँ देने वाले व्यक्तियों, संस्थाओं का भरपूर सहयोग लिया जायेगा। श्री चौहान ने माधव सेवा न्यास के नगर भोज में शामिल होकर स्वयं लोगों को भोजन परोसा। महाकालेश्वर मंदिर पहुँचकर पूजन-अर्चन किया। नव-विस्तारित नंदी हॉल का अवलोकन कर वहाँ अधिक एलसीडी लगाने को कहा।

फूड कोर्ट

श्री चौहान ने महाकाल वन प्रोजेक्ट फेज-1 में निर्मित फूड कोर्ट का लोकार्पण भी किया। दुकान आवंटियों को अधिकार-पत्र एवं चाबी सौंपी। महाकाल वन प्रोजेक्ट के फेज-1 में कुल 27 करोड़ के काम किये जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here