सीएस की अध्यक्षता में हुई सिविल-मिलेट्री लायजिंग कान्फ्रेन्स

भोपाल, अगस्‍त 2013/ मध्यप्रदेश के मिलेट्री स्टेशन महू (इंदौर), ढाना (सागर), जबलपुर, भोपाल, रीवा आदि की समस्याएँ दूर करते हुए नागरिक सुविधाएँ बढ़ाई जायेगी। इनमें प्रमुख रूप से भोपाल में सिटी बस सेवा में विस्तार, स्कूल मरम्मत, अतिक्रमण हटाने, सागर के पास बेबस नदी पर पुल निर्माण के कार्य किये जायेंगे। ये निर्णय मुख्य सचिव आर. परशुराम की अध्यक्षता में हुई सिविल-मिलेट्री लायजिंग कान्फ्रेन्स में लिए गए। कान्फ्रेन्स में लेफ्टिनेन्ट जनरल अमित शर्मा (विशिष्ट सेवा मेडल) जनरल आफिसर कमान्डिग 21 कोर, मेजर जनरल एम.पी. सिंह कमान्डिंग आफिसर सब एरिया कमान्डिग भोपाल एवं प्रदेश के अन्य मिलेट्री स्टेशन्स के प्रभारी सैन्य अधिकारी शामिल हुए। कान्फ्रेन्स में जानकारी दी गई कि वर्ष 2005 से अब तक प्रदेश में 576 पूर्व सैनिक को विभिन्न शासकीय विभाग में नियुक्त किया गया है।

मुख्य सचिव ने कहा कि बैठक में रखी गई समस्याओं का समय-सीमा में समाधान होगा। सागर जिले में मिलेट्री स्टेशन ढाना के नजदीक स्टेट हाईवे और राष्ट्रीय राजमार्ग 26 को जोड़ने वाले मार्ग पर बेबस नदी पर हाई लेवल ब्रिज का निर्माण किया जाएगा। वर्तमान पुराने पुल पर रेलिंग भी बनाई जाएगी और सड़क मरम्मत कार्य भी पूर्ण किया जाएगा। भोपाल के एमईएस क्षेत्र में शासकीय माध्यमिक विद्यालय भवन के जीर्णोद्वार, आवश्यकतानुसार सैन्य क्षेत्र में सिटी बस सेवा उपलब्ध करवाने का निर्णय भी लिया गया। रीवा फायरिंग रेंज एवं जबलपुर से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर भी चर्चा हुई। मिलेट्री स्टेशन महू में भी विभिन्न सुविधाओं के विकास पर विचार-विमर्श किया गया। लेफ्टिनेन्ट जनरल अमित शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार का सकारात्मक रुख सराहनीय है। मध्यप्रदेश के मिलेट्री स्टेशन्स की अनेक समस्याएँ हल हुई हैं। उन्होंने मुख्य सचिव की पहल पर हुए कार्यों के लिए धन्यवाद दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here