सॉंची बौद्ध तथा भारतीय ज्ञान अध्‍ययन विवि की अधिसूचना जारी

भोपाल। मध्यप्रदेश में साँची बौद्ध तथा भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय की स्थापना की अधिसूचना जारी कर दी गई है। राज्यपाल श्री राम नरेश यादव की स्वीकृति के बाद इस संबंध में अध्यादेश को राजपत्र में प्रकाशित कर दिया गया है। विश्वविद्यालय का मुख्यालय साँची रहेगा। इसके परिसर का शिलान्यास 21 सितम्बर को साँची में होगा।

संस्कृति मंत्री श्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने आज यहाँ बताया कि विश्वविद्यालय बुद्धिज्म तथा भारतीय ज्ञान, भारतीय संस्कृति के आधारभूत सिद्धांत तथा विचारों एवं विश्व की विभिन्न सभ्यताओं के बीच समन्वय की दिशा में अध्ययन तथा शोध को प्रोत्साहित करेगा। विश्वविद्यालय धम्म के सिद्धांत, बुद्धिज्म शिक्षण, सम-सामयिक दर्शन एवं परम्पराओं में शिक्षा प्रदान करेगा। एशिया के देशों के बीच धर्म, दर्शन तथा संस्कृति जैसे क्षेत्रों में ज्ञान की ऐतिहासिक समानताओं के बीच सम्बन्धों एवं एशिया की संस्कृति और सभ्यता को साथ लाकर विश्व शांति और सौहार्द को प्रोत्साहित करेगा।

शिक्षा की वैकल्पिक पद्धतियों के परिप्रेक्ष्य में भारत की शिक्षा प्रणाली में सुधार और एशिया की कला शिल्प और कौशल में शिक्षण-प्रशिक्षण का कार्य भी विश्वविद्यालय करेगा। एशिया तथा विश्व के विद्वान एकेडिमिशियन के बीच भागीदारी बनाना भी इस विश्वविद्यालय का प्रमुख उद्देश्य है।

साँची बौद्ध तथा भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश से बाहर या विदेश की किसी संस्था के साथ सहयोग कर सकेगा। विश्वविद्यालय में बुद्धिज्म और भारतीय ज्ञान और संस्कृति पर एक पुस्तकालय की स्थापना की जाएगी, जो भौतिक और डिजिटल स्वरूप में संबंधित साहित्य उपलब्ध करवायेगी।

मध्यप्रदेश के राज्यपाल विश्वविद्यालय के कुलाध्यक्ष होंगे। अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति के विद्वान को विश्वविद्यालय का कुलाधिपति 3 वर्ष के लिए विश्वविद्यालय की साधारण परिषद द्वारा नियुक्त किया जायेगा। विश्वविद्यालय के कुलपति की नियुक्ति कुलाध्यक्ष द्वारा राज्य सरकार की अनुशंसा पर 4 वर्ष के लिए की जाएगी। विश्वविद्यालय में साधारण परिषद, कार्य परिषद और विद्या परिषद होगी। मुख्यमंत्री साधारण परिषद के अध्यक्ष होंगे। कुलाधिपति उपाध्यक्ष एवं संस्कृति विभाग के मंत्री पदेन सदस्य होंगे। साधारण परिषद में बौद्ध तथा भारतीय ज्ञान दर्शन के दो विद्वान, कला, विज्ञान साहित्य तथा लोक जीवन के क्षेत्र से 6 विशिष्ट विद्वान सदस्य मनोनीत किये जाएंगे।

संस्कृति मंत्री श्री शर्मा ने बताया कि विश्वविद्यालय के परिसर के शिलान्यास समारोह की तैयारियाँ अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि साँची बौद्ध विश्वविद्यालय की स्थापना मध्यप्रदेश की ऐतिहासिक पहल है। उन्होंने बताया कि 22 और 23 सितम्बर को भोपाल में अन्तर्राष्ट्रीय धर्म एवं धम्म सम्मेलन भी आयोजित किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here