स्वाइन फ्लू को रोकने की कारगर रणनीति बनायें: मुख्‍यमंत्री

भोपाल, सितंबर 2012। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्वाइन फ्लू को रोकने की कारगर रणनीति बनायें। रोग से निपटने की कोशिशों में कोई कमी नहीं रहे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज यहाँ एक बैठक में स्वाइन फ्लू की रोकथाम और उपचार संबंधी स्वास्थ्य विभाग द्वारा किये जा रहे उपायों और प्रबंधों की जानकारी ली। बैठक में मुख्य सचिव श्री आर.परशुराम भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्राम स्तर तक लोगों को स्वाइन फ्लू से बचाव के उपायों के बारे में जागरूक करें। रोग के संबंध में शासकीय चिकित्सकों के साथ निजी चिकित्सकों को जागरूक करें। सभी अस्पतालों में पर्याप्त दवाइयों की उपलब्धता तथा उपचार की व्यवस्था की जानकारी दी जाये। उन्होंने कहा कि स्वाइन फ्लू के परीक्षण के लिये गये सेम्पल के परिणाम समय-सीमा में प्राप्त किये जायें। यदि आवश्यकता हो तो परीक्षण के लिये और केन्द्र बनाने की कार्रवाई करें। अभी ग्वालियर और जबलपुर में परीक्षण केन्द्र हैं। उन्होंने कहा कि सभी कलेक्टर को भी इस बारे में निर्देश दिये जाये कि अपने-अपने जिले में सजग रह कर समन्वय करें।

मुख्य सचिव आर. परशुराम ने बताया कि सभी जिलों में कलेक्टर निजी चिकित्सकों की बैठक लेकर उन्हें जागरूक कर रहे हैं। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रवीर कृष्ण ने बताया कि सभी विकासखंड में स्वाइन फ्लू के इलाज के लिये पर्याप्त मात्रा में दवाइयाँ उपलब्ध हैं। सभी जिला चिकित्सालय, मेडिकल कॉलेज तथा चालीस निजी चिकित्सालय में आईसोलेशन वार्ड बनाये गये हैं। कलेक्टर और कमिश्नर द्वारा साप्ताहिक समीक्षा की जा रही है। लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि सर्दी-खाँसी होने पर लापरवाही न बरतें, तुरंत नजदीक के शासकीय अस्पताल में जाकर उपचार करवायें। बैठक में प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा अजय तिर्की, मुख्यमंत्री के सचिव विवेक अग्रवाल सहित स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here