430 मिलियन डॉलर से होगा उच्च शिक्षा में सुधार

भोपाल, अगस्त 2015/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में संपन्न मंत्रि-परिषद की बैठक में विश्व बैंक परियोजना में आगामी 6 वर्ष के लिए 430 मिलियन डॉलर (2728 करोड़) की राशि उच्च शिक्षा में सुधार की विभिन्न गतिविधियों में मंजूर की गयी। इसमें विश्व बैंक का 300 और राज्यांश का 130 मिलियन डॉलर का योगदान होगा।

इंदौर में औद्योगिक केंद्र विकास निगम द्वारा डायमंड पार्क प्रोजेक्ट के लिए उपलब्ध जन-निजी भागीदारी आधार पर 254 एकड़ भूमि का विशेष आर्थिक प्रक्षेत्र (एसईजेड) और घरेलू उत्पाद क्षेत्र (डीटीए) के रूप में विकास किया जाएगा। एसईजेड कोर एरिया में इंडस्ट्रियल प्लाट्स और नॉन कोर एरिया में होटल, टाउनशिप, कान्फ्रेंस हॉल, अस्पताल, स्कूल, ट्रेनिंग सेंटर और प्रशासनिक भवन बनाए जायेंगे। यहाँ बुनियादी सुविधाएँ जैसे सड़क, पानी, बिजली, स्ट्रीट लाइट, सीवर नेटवर्क, प्लांटेशन, सीसीटीवी कैमरा, पार्किंग का विकास निजी विकासकर्ता द्वारा किया जायेगा। डीटीए में भी औद्योगिक भूखंडों के साथ ही सड़क, पार्किंग, बिजली, पानी जैसी सुविधाएँ विकसित होंगी।

राष्ट्रीय आयुष मिशन के क्रियान्वयन के लिए राज्य आयुष मिशन सोसायटी के गठन का निर्णय लिया। सोसायटी द्वारा अनुमोदित कार्य-योजना के क्रियान्वयन में कार्यक्रम प्रबंधन इकाई के लिए 7 विभिन्न पद मंजूर किये गये। रीवा के श्यामशाह चिकित्सा महाविद्यालय के नाक-कान-गला विभाग में 5 नये पद के सृजन की मंजूरी दी। इसमें 3 जूनियर रेसीडेंट तथा एक-एक आडियोमेंट्रिस्ट और स्पीच थेरेपिस्ट शामिल हैं।

चार सिंचाई परियोजना के लिए 422 करोड़ से ज्यादा की मंजूरी दी। परियोजनाओं से 13 हजार 727 हेक्टेयर क्षेत्र का लाभ होगा। पाँच मुख्य जिला मार्ग के लिए 367 करोड़ 80 लाख मंजूर किए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here