964 करोड़ से होगा ग्रामीण बिजली अधोसंरचना विकास

भोपाल, फरवरी 2016/ पूर्व क्षेत्र विद्युत‍ वितरण कंपनी के जबलपुर, सागर तथा रीवा के 20 जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के 964 करोड़ की लागत से बिजली अधोसंरचना के विकास के कार्य करवाए जायेंगे। इन कार्यों में अविद्युतीकृत गाँवों का बिजलीकरण, ग्रामीण क्षेत्रों में रोशनी तथा पम्प सिंचाई के लिए फीडर सेपरेशन, गरीबी रेखा के नीचे के घरों में बिजली कनेक्शन, नए मीटर लगाने का कार्य, सिस्ट्म की मजबूती और सांसद आदर्श ग्राम योजना के निर्धारित काम करवाए जायेंगे।

इन कार्यों के पूरे होने के बाद कंपनी के 20 जिलों के 77 अविद्युतीकृत गाँव तथा 21 हजार 674 मजरा-टोला बिजली से रोशन होंगे। गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवार को बिजली कनेक्शन मिलेगा, खराब मीटरों को नए में बदलने से उपभोक्ताओं की बिजली खपत में पारदर्शिता होगी और उपभोक्ताओं को सतत्, गुणवत्तापूर्ण और विश्वसनीय प्रदाय होगा। साथ ही कंपनी की वितरण हानियों में कमी आएगी।

कंपनी के 20 जिलों के ग्रामीण क्षेत्र के लिए दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में बिजली अधोसंरचना के विकास की महत्वपूर्ण योजना तैयार की गई है। कंपनी क्षेत्र के जबलपुर, मंडला, डिंडोरी, कटनी, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, सिवनी, बालाघाट, सागर, दमोह, टीकमगढ़, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, छतरपुर, पन्ना, शहडोल, उमरिया और अनूपपुर के ग्रामीण क्षेत्र में बिजली अधोसंरचना के विकास के कई महत्वपूर्ण काम करवाये जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here